रायपुर। 1 अक्टूबर 2010 रजनीकांत की फिल्म रोबोट आयी। ये फिल्म हमें इसलिए भी ज्यादा प्रभावित कर गई क्योंकि हमने उस स्तर की कल्पना नहीं की थी। यह सब कल्पना का ही तो खेल है। इस बार रजनीकांत 8 साल बाद 2.0 में रोबोट की भूमिका में फिर से लौटे हैं। मगर इस बार उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है कि लोग उनकी पिछली फिल्म से तुलना करके किसी महान फिल्म की कल्पना कर बैठे हैं। इससे हो यह रहा है कि अपेक्षाएं बहुत बढ़ गई हैं। इसलिए फिल्म के बीच बीच में वह अपेक्षाएं पूरी नहीं हो पाती। लेकिन आखिर में 'थलाइवा' अपना काम कर जाते हैं। आइए जानते हैं फिल्म से जुड़े कुछ पहलुओं को-

कहानी- पक्षी राजन एक पक्षी विज्ञानी था, जिसके घर कई सारे पक्षी आते और उसके साथ रहते थे। लेकिन मोबाइल फोन के बढ़ने और उसके साथ विकिरण के बढ़ने से उसके सारे पक्षी मरने लगे थे। वो कई आंदोलन भी करता है, पर कोई साथ नहीं देता। जब उसके सारे पक्षी मर जाते हैं तो पक्षी राजन भी ख़ुदकुशी कर लेता है। उसका जीवन और कुछ मारे हुए पक्षियों का जीवन आपस में मिल कर एक औरा (आत्मा) बना लेता है, जो मोबाइल फोन पर नियंत्रण पा लेता है।

अभिनय- रजनीकान्त, एमी जैक्सन और अक्षय कुमार मुख्य किरदार में हैं। ए॰ आर॰ रहमान ने फ़िल्म में संगीत दिया है। इस फिल्म को 14 भाषाओं में डब किया गया हैं। सभी ने संतुलित काम किया है। एमी की सुंदरता उनकी एडवांटेज है।

संदेश- तकनीक कैसे पर्यावरण पर हावी हो रही है और उससे हम क्या खो रहे हैं इस पर फोकस किया गया है।

3D तकनीक- डायरेक्टर शंकर के निर्देशन में बनी 2.0 के वीएफएक्स और ग्राफिक्स पर बहुत काम किया गया है। मगर... आपको दिए जाने वाले 3D चश्मे उतने अच्छे नहीं होने से कुछ कमी लगती है।

डायरेक्शन/निर्देशन- फर्स्ट हाफ थोड़ा-सा स्लो लग सकता है। इंटरवेल के बाद चिट्टी के जाने बाद 2.0 की एंट्री से मजा शुरू हो जाता है। फिल्म में डॉ वसीकरण, नीला, चिट्टी, चिट्टी 2.0 और मिनी चिट्टी 3.0 दुश्मन से लड़ते हैं।

कमी- एक्शन के बीच चिट्टी की बैटरी डाउन होने पर वो रेंगता हुआ सा अच्छा नहीं लगता। जब कहानी में इतना सब खेल किया गया है तो इस बारे में भी कुछ अनलिमिटेड पावर सोर्स जैसा गढ़ देना था। आखिर है तो सब कल्पना ही न। तुलना हो ही रही है हॉलीवुड से तो एक बात कहना चाहूंगा कि एक जगह चिट्टी 2.0 खुद को आयरन मैन कहता है। तो उसकी ही तरह चिट्टी की चार्जिंग लिमिटेशंस और बेहतर दिखाया जा सकता था।

स्टार- 5 में से 3

बाजार- फिल्म का बजट 600 करोड़ रुपये है। साथ ही फिल्म को तमिल, तेलुगू और हिन्दी में कुल 6800 स्क्रीन्स पर रिलीज किया गया है। फिल्म ने वर्ल्ड वाइड कलेक्शन के मामले में हॉलीवुड फिल्म फैंटास्टिक बीस्ट को पीछे छोड़ दिया है। 2.0 ने 4 दिन में 400 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है। इस तरह ये नंबर वन फिल्म बन गई है। जबकि फैंटास्टिक बीस्ट दूसरे नंबर पर है इसने वर्ल्ड वाइड 360 करोड़ कमाया था।

निष्कर्ष- इन दिनों इससे बेहतर और कोई मूवी मार्किट में नहीं है। तो एक बार जाकर देखी ही जा सकती है।