कोलंबो । श्रीलंका में एक मुस्लिम डॉक्टर की ओर से चार हजार बौद्ध महिलाओं की गुप्त रूप से नसबंदी के दावे से तनाव फैल गया है। एक अखबार ने दावा किया था कि डॉक्टर ने ऑपरेशन से बच्चों को जन्म देने वाली महिलाओं की गुप्त रूप से नसबंदी की है। हालांकि इस रिपोर्ट की स्वतंत्र तौर पर पुष्टि नहीं हो पाई है। 

श्रीलंका के अखबार 'दिवाइना' ने 23 मई को यह दावा करते हुए अपने पहले पेज पर एक रिपोर्ट छापी थी। अखबार ने अपनी खबर में कथित तौर पर नसबंदी करने वाले डॉक्टर की पहचान उजागर नहीं की है, लेकिन कहा जा रहा है कि वह प्रतिबंधित आतंकी संगठन नैशनल तौहीद जमात का  का सदस्‍य भी है

दिवाइना' के एडिटर-इन-चीफ अनुरा सोलोमोंस ने बताया कि उनके अखबार यह खबर पुलिस और अस्पताल के सूत्रों के आधार पर बनाई गई है। एक मुस्लिम डॉक्टर पर जबरन या फिर चोरी से बौद्ध महिलाओं की नसबंदी किए जाने के आरोप द्विपीय देश में लोगों को भड़काने वाले साबित हो सकते हैं। बता दें कि श्रीलंका में बहुसंख्यक बौद्ध धर्म के कट्टरपंथी मुस्लिमों पर अपनी आबादी को तेजी से बढ़ाने का आरोप लगाते रहे हैं। ऐसे में बौद्ध महिलाओं की नसबंदी की खबर की वजह से हालात तनाव भरे हैं।  हिंसा को जन्म दे सकती है।