धीरज शिवहरे

बैकुण्ठपुर। एक युवक घर से मजदूरी करने निकला था 8 साल बाद वह तो नहीं लौटा आई तो उसकी मौत की खबर। उसके बाद एक गरीब पिता को अपने मजदूर बेटे की लाश देखने के लिए 9 दिन इंतजार करना पड़ा। अंत में विधायक की पहल से एक गरीब पिता हवाई सफर तय कर मुम्बई पहुंचा। घटना की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हवाई सफर की सुविधा मुहैया करवाई

यह मामला कोरिया का है, जहाँ ग्राम डोहड़ा का विजेंद्र सिंह 8 साल पहले मजदूरी करने के लिए मुम्बई गया था मुबई पुलिस से उसके परिजनों को सूचना मिली कि 17 जुलाई को विजेंद्र सिंह की मौत हो गई है। जिसके बाद गरीब माता पिता अपने बेटे की लाश देखने मुम्बई जाने के लिये लोगों से गुहार लगाने लगे आखिर में सरपंच के माध्यम से विधायक अम्बिका सिंहदेव को घटना की पूरी जानकारी मिली। विधायक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बात कर राज्य सरकार से सभी सुविधा मुहैया करायी। विधायक ने मृतक के पिता के साथ मे अपने जनप्रतिनिधि व शासकीय अमले में पुलिस विभाग का एक आरक्षक हवाई जहाज से भेजने का प्रबंध करवाया। इसके अलावा अपने प्रतिनिधि के माध्यम से मुम्बई के संबंधित थाना स्टाफ से फोन में बात कर हर संभव मदद करने का आग्रह किया और बेटे की मौत के 9वें दिन बाद एक पिता अपने बेटे की लाश देख पाया। वहीं शव के पोस्टमार्टम के बाद विजेंद्र सिंह की मौत का पता चल पायेगा।  

इस मामले में विधायक अंबिका सिंहदेव ने बताया कि मजदूर के पिता और एक कार्यकर्ता को रायपुर भेजा गया है। सीएम ने मुंबई जाने की सुविधा करवाई है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारण का पता चल पायेगा।