नाव पलटने से हुई 9 लोगो की मौत, क्षमता से अधिक लोग थे सवार  



केन्द्रपड़ा जिले में निवाड़ी के पास बुधवार को हुए हादसे में मृतकों की संख्या 9 तक पहुंच गई है। बुधवार की रात तक दो व्यक्ति की मौत की पुष्टि हुई थी गुरुवार को सुबह 3 बजे से दोबारा बचाओ कार्य शुरू किया गया। अब तक हादसे में कुल 9 लोगो की मौत की पुष्टि हो चुकी है। सुबह तक नदी से 7 और शव निकाले गए मृतकों में 7 बच्चे और 2 महिलाएं शामिल है। नाविक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। गुरुवार को सभी 9 शवों को जो चउमुहाना लाया गया। यहीं पर सभी का पोस्टमार्टम किया जाएगा।

दरअसल जगतसिंहपुर जिला के गांव के 17 परिवार के 55 लोग दो नाव में सवार होकर निकले थे। लेकिन वापसी के समय सभी लोग एक ही नाव पर सवार होकर लौट रहे थे। क्षमता से अधिक लोगो के कारण उमरिया के पास नाव पलट गई। घटना की खबर मिलते ही स्थानीय लोग मदद के लिए दौड़े। आसपास के ग्रामीणों ने रात होने के बावजूद बड़ी हिम्मत से बचाव कार्य शुरू किया। घटना की जानकारी मिलने के बाद दमकल वाहिनी, ड्राफ्टिंग, कोस्ट गार्ड की टीम भी पहुंचकर राहत कार्य में जुट गई। पीड़ितों को पानी से निकालने के बाद स्थानीय लोगों ने उन्हें पहनने के कपड़े दिए और तुरंत आग जलाकर ठंड से राहत पहुंचाने की कोशिश की। घटना के बाद 45 यात्री सुरक्षित बचा लिए गए जबकि एक व्यक्ति अब भी लापता है। केंद्रपड़ा के एसपी ने बताया कि हादसा नाव पर क्षमता से ज्यादा लोगों के सवार होने के चलते हुआ है। जिस नाव पर केवल 10 लोग आ सकते थे उस पर 55 लोग सवार थे।

परिवहन मंत्री ने कहा कि टीम घटना स्थल पर पहुंचकर जांच शुरू कर चुकी है। सरकार की ओर से विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए उसे रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाई के बाद ही पता चलेगा दुर्घटना कैसे और किस परिस्थिति में हुई, उसके बाद सही कदम उठाया जाएगा। सभी बचे हुए लोगों को महाकालपड़ा से निपनिया लाया गया है। इनमें से 10 की हालत गंभीर होने के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस घटना पर गहरा दु:ख प्रकट किया और उनके परिवारों को 4,00,000 की राशि देने की घोषणा की है। नि:शुल्क इलाज कराने के निर्देश दिए केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने घटना पर दु:ख प्रकट करते हुए घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है।