राज्य सरकार पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

सरकार को उखाड़ कर फेंक देने का का किया आह्वान

 भुवनेश्वर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गजपति जिला अंतर्गत पारलाखेमुंडी में आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कांग्रेस और बीजू जनता दल (बीजद) को आप लोगों ने लंबे समय तक शासन करने का अवसर दिया। इस बार भाजपा को अवसर दें, पांच साल में ओडिशा को देश का एक नंबर राज्य बना कर दिखा देंगे। नवीन बाबू ने भ्रष्टाचार के सिवा और कुछ नहीं किया है। गरीबी को कैसे दूर किया जाएगा, इसके लिए नवीन बाबू को ट्यूशन लेनी चाहिए। ट्यूशन के लिए नवीन बाबू को फीस देनी होगी, हम उन्हें मुफ्त में ट्यूशन देंगे, मगर इसके लिए अभी समय नहीं है, यह समय चला गया।

शाह ने कहा कि आपको नवीन पटनायक सरकार को उखाड़ कर फेंक देने का संकल्प लेना होगा। ओडिशा को एक युवा और नए मुख्यमंत्री की जरूरत है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज सोमवार को अपने भाषण की शुरुआत से ही नवीन पटनायक सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि नवीन बाबू ओडिशा में 19 साल से शासन कर रहे हैं, मगर आज तक ओडिया भाषा में बात करना तक नहीं सीखे। हाल ही में उन्होंने सूरत में एक सभा की थी, जिसमें 30,000 ओडिया लोग शामिल हुए थे। यहां सवाल ये उठता है कि आखिरकार राज्य के लोग अपने घर को छोड़कर काम-धंधा के लिए दूसरे राज्यों में क्यों जाना पड़ रहा है। 19 साल से नवीन बाबू की सरकार क्या कर रही है, भाजपा की सरकार ओडिशा में बनने के बाद यहां के लोगों को सूरत नहीं जाना पड़ेगा, उन्हें अपने गांव में ही अपने घर पर रोजगार मिलेगा।

शाह ने यह भी कहा कि राज्य की सरकार पश्चिम ओडिशा और मध्य ओडिशा के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। यह सरकार किसी भी कार्य के लिए कमीशन लेती है। इस सरकार ने महाप्रभु के रत्न भंडार को नहीं छोड़ा। नवीन सरकार ने महेंद्र तनया प्रोजेक्ट को नहीं होने दिया। हर घर में अभी तक इस सरकार ने पानी तक मुहैया नहीं कर पाई है। अस्पतालों में डॉक्टर नहीं है। उन्होंने इस अवसर पर केंद्र में एक बार फिर मोदी सरकार लाने के लिए लोगों से आह्वान किया। इसके साथ ही अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी हमला बोला। समझौता एक्सप्रेस मामले में सभी हिंदू निर्दोष साबित हुए हैं, ऐसे में हिंदू कभी आतंकी नहीं होते हैं। हिंदू देश का निर्माण करते हैं। अमित शाह ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद कांग्रेस का बयान निंदनीय है। मोदी मौनी बाबा नहीं है। आतंकियों को उनके घर में घुसकर मारा गया।