मुम्बई। केबीसी का 12वां सीजन होस्ट कर रहे अमिताभ बच्चन ने अपने जीवन से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया की मां तेजी बच्चन आजादी के आंदोलन से इतना ज्यादा प्रभावित थीं कि वो उनका नाम इंकलाब रखना चाहती थीं। कौन बनेगा करोड़पति के एक एपिसोड में अमिताभ ने अपने नाम के पीछे का यह किस्सा सुनाया।

उन्होंने कहा- 1942 में जब तेजी बच्चन 8 महीने की गर्भवती थीं, तब उन्होंने भारत की आजादी के लिए की गई एक रैली में हिस्सा लिया था। उस वक्त जब तेजी घर पर नहीं मिलीं तो घरवालों ने उन्हें खोजा और रैली से वापस बुलाकर लाए।

तेजी इंकलाब नाम रखने के लिए राजी थीं

तेजी बच्चन, आजादी के आंदोलन से प्रभावित थीं। आंदोलन में शामिल एक शख्स ने कहा कि तेजी को अपने बच्चे का नाम इंकलाब रखना चाहिए। जब बच्चे का जन्म हुआ तो माता-पिता भी इंकलाब नाम रखने पर सहमत थे। लेकिन, कवि सुमित्रा नंदन पंत ने बच्चे का नाम अमिताभ रखा।

दिलचस्प बात ये है कि अमिताभ बच्चन ने 1984 में एक फिल्म में काम किया था, जिसका नाम इंकलाब था। अमिताभ फिल्म के लीड रोल में थे।