By रमेश गुप्ता  

भिलाई। नगर पालिक निगम आयुक्त एस.के. सुंदरानी ने डोर टू डोर कचरा जमा करने के लिए दिए गये नीले और हरे डस्टबिन घटिया क्वालिटी होने के कारण मुख्य कार्यपालन अधिकारी राज्य शहरी विकास अभिकरण रायपुर को रिपोर्ट भेजा है। जिसमें कहा गया है कि इस मामले में केंपस पॉली प्लास्ट प्राइवेट लिमिटेड इंदौर को ब्लैक लिस्ट कर दिया जाये और रोकी गई राशि का भुगतान नहीं किया जाये।  

रिपोर्ट के अनुसार डोर टू डोर कचरा जमा करने के लिए सुडा से सूचीबद्ध किए गए फर्म केंपस पॉलीप्लास्ट प्राइवेट लिमिटेड शिव उद्योग नगर इंदौर ने दिसंबर से जो हरे और नीले डस्टबिन दिए है उसे लेकर स्थानीय नागरिकों से मिली शिकायत पर जोन स्वास्थ्य अधिकारी से प्रतिवेदन लिया गया है, जिसके अनुसार दिए गए डस्टबिन बहुत ही कमजोर एवं गुणवत्ताहीन होने के कारण उक्त फर्म को नियमानुसार रोकी गई 10% की राशि का भुगतान किया जाना संभव नहीं है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इसलिए फर्म द्वारा दिए गए गुणवत्ताहीन हरे और नीले डस्टबिन की शिकायत को देखते हुए मैसर्स केंपस पॉलिप्लास्ट की 10% की राशि का भुगतान करने पर रोक लगाने और फर्म का नाम ब्लैक लिस्ट किये जाने के संबंध में शासन स्तर पर कार्यवाही किया जाना चाहिए।