By रमेश गुप्ता

भिलाई। इस्पात नगरी के तीन युवाओं का चयन स्पेन में आयोजित होने वाले टेन सेंटीडोज अंतर्राष्ट्रीय कोरियोग्राफी प्रतियोगिता के लिए हुआ है। स्पेन जाने की बात आई तो तीनों के घर में खुशी का माहौल था लेकिन यह खुशी फिलहाल मायूसी में बदली हुई है क्योंकि तीनों आर्थिक तंगी के कारण स्पेन जाने में असमर्थ हैं। तीनों युवाओं की नजरें समाज और शासन-प्रशासन की ओर है, जिससे ये लोग स्पेन में अपने शहर भिलाई और छत्तीसगढ़ राज्य के साथ देश का भी नाम रोशन कर सकें।

दरअसल रामनगर निवासी रौशन घड़ेकर, मरोदा निवासी प्रदीप गुप्ता और सेक्टर-10 निवासी पुरेंद्र मेश्राम इस प्रतियोगिता में अपनी कोरियोग्राफी का वीडियो अपलोड कर इंट्री ली थी। जिसमें पूरी दुनिया के हजारों प्रतिभागियों के बीच टॉप 10 में इन युवाओं का चयन हुआ है। समूचे मध्यभारत से इन तीन युवाओं के समूह को ही इस प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर मिला है। इन्हें अपनी विशिष्ट शैली की कोरियोग्राफी का प्रदर्शन करने 17-18 मई को स्पेन के साला मेटिल्डे सल्वाडोर (वलेंसिया) में उपस्थित होना है। लेकिन तीनों के पास इतनी धनराशि नहीं है कि अपने सपनों को पूरा करने और देश का नाम रोशन करने स्पेन जा सकें। तीनों की उम्मीदें अब प्रशासन पर टिकी हुई हैं।

क्या है टू मैन डांस एक्ट

इन युवाओं द्वारा तैयार टू मैन डांस एक्ट दरअसल कथानक पर आधारित अमूर्त (एब्स्ट्रैक्ट) आधार की कोरियोग्राफी है। जिसमें शारीरिक हाव-भाव, पैरों की आवाज व सांस लेने और छोड़ने की गति के साथ कहानी को अनूठे अंदाज में दर्शकों तक पहुंचाया जाता है। इस एक्ट में प्रदीप और पुरेंद्र मंच पर रहते हैं और पार्श्व में रोशन घड़ेकर की भूमिका रहती है। अपनी कोशिशों से तीनों विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेते रहते हैं। यह पहला मौका है, जब तीनों को स्पेन जाने का मौका मिल रहा है।