रायपुर। भाजपा नेताओं के हनुमान जी की जाति को लेकर दिए जा रहे बयानों को लेकर प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भाजपा पर निशाना साधा है। त्रिवेदी ने कहा कि भगवान को जातियों के खाचों में बांटकर भाजपा ने अपने वास्तविक चरित्र को उजागर कर दिया है। पहले योगी आदित्यनाथ ने हनुमान जी को दलित का कहा था और अब नंदकुमार साय जी ने हनुमान जी को अनुसूचित जाति का बताया है।

त्रिवेदी ने कहा है कि हनुमान जी के बारे में पूरा वर्णन राम कथा में मिलता है। भवभूति, महर्षि वाल्मिकी और गोस्वामी तुलसीदास सबने राम कथा लिखते समय हनुमान चरित्र का विशद विवेचन किया है। किसी ने भी उस काल में भी हनुमान जी को जाति में नहीं बांधा। जब जाति-पाति का बहुत प्रचलन था। अब भाजपा के नेता आज के आधुनिक युग में हनुमान जी की जाति खोजने में लग गये है। क्या यही है भाजपा के अच्छे दिन?

दरअसल हाल ही में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने भाषण में हनुमान जी को दलित जाति का कहकर सम्बोधित किया था। इसके बाद से सियासी गलियारों में उनके इस बयान को लेकर बवाल मचा हुआ है। सभी नेता अपनी प्रतिक्रियायें देते हुए नजर आ रहे हैं।