नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए सभी राजनीतिक प्रचार में जुट गयी है। इस दौरान राजनीतिक पार्टियाँ चुनावी प्रचार के लिए गूगल का सहारा भी ले ही हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार लोकसभा चुनाव के दौरान सर्च इंजन कंपनी गूगल पर विज्ञापन देने के मामले में भारतीय जनता पार्टी सबसे आगे है। गूगल पर विज्ञापनों पर खर्च करने के मामले में भाजपा ने सभी राजनीतिक दलों को पीछे छोड़ दिया है वहीं विज्ञापनों पर खर्च करने के मामले में कांग्रेस छठे नंबर पर है। 

‘भारतीय पारदर्शिता रिपोर्ट’ के अनुसार राजनीतिक दलों और उनसे संबंद्ध घटकों ने फरवरी 2019 तक विज्ञापनों पर 3.76 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। भारतीय जनता पार्टी विज्ञापनों पर 1.21 करोड़ रुपये खर्च करने के साथ ही इस सूची में शीर्ष पर है, जो कि गूगल पर कुल विज्ञापन खर्चों का लगभग 32 फीसदी है।

वहीँ प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस इस सूची में छठे नंबर पर है, जिसने विज्ञापनों पर 54,100 रुपये खर्च किए हैं। रिपोर्ट के अनुसार भाजपा के बाद इस सूची में आंध्र प्रदेश की जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस पार्टी है जिसने विज्ञापनों पर कुल 1.04 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

इसके अलावा रिपोर्ट में कहा गया है कि तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) और उसके प्रमुख चंद्र बाबू नायडू का प्रचार करने वाली प्रमण्या स्ट्रेटजी कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड ने 85.25 लाख रुपए विज्ञापन पर खर्च किए। इसी के साथ तेदेपा तीसरे नंबर पर है।