बॉलीवुड

बॉलीवुड

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

मुंबई। दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा और उनकी कंपनी पुलिस कार्रवाई में फंस गई हैं। सीओ की जांच में सभी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करने की संस्तुति कर दी गई। उसके बाद कप्तान ने कटघर थाने में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। हालांकि इस प्रकरण में जांच रिपोर्ट तैयार करने में सीओ ने दो माह से भी अधिक समय लगा दिया। पुलिस उस समय हरकत में आई, जब आयोजक ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की। समय पर उपचार मिलने के बाद उसे बचा लिया गया।

प्रमोद का आरोप था कि फिल्म अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा और उनकी कंपनी के पदाधिकारियों को 24 लाख की रकम दी थी। उसके बाद भी वे दिल्ली में आयोजित शो में नहीं पहुंचीं। सीओ कटघर को सोनाक्षी और उनकी कंपनी के पदाधिकारियों के खिलाफ सभी सबूत दे दिए। तब भी पुलिस उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं कर रही है। तेरह फरवरी को आयोजक प्रमोद शर्मा ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की। उन्हें समय पर अस्पताल में भर्ती कराने के बाद उपचार देकर बचा लिया गया। पुलिस की कार्रवाई से परेशान होकर प्रमोद ने ऐसा कदम उठाया था। उसके बाद ही पुलिस हरकत में आ गई।

सीओ कटघर सुदेश गुप्ता ने बताया कि सोनाक्षी सिन्हा, उनकी कंपनी के मैनेजर अभिषेक सिन्हा और उनकी पत्नी स्वाती तथा निजी सचिव मालादीका तथा दिल्ली की ऐल्डा कंपनी से जुड़े धु्रवमिला ठक्कर के खिलाफ धोखाधड़ी के सभी आरोप सही मिले हैं। एसएसपी ने सीओ की संस्तुति पर कटघर पुलिस को मुकदमे के आदेश कर दिए।

कटघर के हनुमान मंदिर स्थित डबल फाटक शिवपुरी निवासी प्रमोद शर्मा ने इंडियन फैशन एंड ब्यूटी अवार्ड कंपनी चलाते हैं। उनकी कंपनी ने दिल्ली के शीरी फोर्ट स्टेडियम में फैशन शो कराने की बात तय की थी। दिल्ली में धु्रवमिला ठक्कर से बात के बाद तिथि तय हो गई तो प्रमोद शर्मा ने 24 लाख रुपये स्वाति सिन्हा और सोनाक्षी सिन्हा के खाते में डाल दिए। 30 सितंबर को होने वाले शो में एयर टिकट पूरे नहीं मिलने पर सोनाक्षी ने आने से इन्कार कर दिया। आयोजक प्रमोद शर्मा ने एसएसपी से शिकायत कर रकम वापस दिलाने की मांग की। एसएसपी सीओ की जांच रिपोर्ट के आधार पर सोनाक्षी सिन्हा तथा उनकी कंपनी के पदाधिकारियों के खिलाफ कटघर थाने में मुकदमा दर्ज करने के आदेश कर दिए हैं। लगातार आरोपितों को नोटिस भेजने के बाद भी वे अपना पक्ष रखने के लिए मुरादाबाद नहीं आए हैं।

देश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

मुंबई। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुएआतंकी हमले में देश के 40 जवान शहीद हो गए, जिसके बाद देश में पाकिस्तान के खिलाफ काफी गुस्सा व्याप्त है। वहीं इस बात से बॉलीवुड में भी काफी रोष है। बॉलीवुड के तमाम दिग्गज स्टार्स ने शहीदों के प्रति अपनी-अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए इस हमले की निंदा की है, वहीं अब इस मामले में सिने एसोसिएशन ने एक बड़ा कदम उठाते हुए पाकिस्तानी एक्टर्स और आर्टिस्ट पर पूरी तरह का बैन लगा दिया है।


ऑल इंडियन सिने वर्कर्स एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी रौनक सुरेश जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि हम सभी के लिए देश पहले है और हम सब देश के साथ खड़े हैं। उन्होंने एक लिखित बयान जारी करते हुए बताया कि एसोसिएशन की तरफ से पाकिस्तानी एक्टर्स और आर्टिस्ट पर पूरी तरह का बैन लगा दिया गया है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि इसके बाद भी अगर कोई पाकिस्तानी आर्टिस्ट के साथ काम करने की कोशिश करेगा तो उस पर भी एसोसिएशन की तरफ से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

ऑल इंडियन सिने वर्कर्स एसोसिएशन ने जारी किया प्रतिबंध का ऐलानऑल इंडियन सिने वर्कर्स एसोसिएशन ने जारी किया प्रतिबंध का ऐलान

इससे पहले बीते रोज फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लाइज ने पुलवामा हमले के विरोध में दोपहर दो से चार बजे तक बंद बुलाया था और इस दिन को काला दिवस भी घोषित किया।

इस प्रदर्शन के दौरान जहां शहीदों और उनके परिवार के लिए संवेदना प्रकट की गई तो वहीं पाकिस्तान के विरोध में जमकर नारे लगे। इस प्रदर्शन के दौरान फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लाइज ने पाकिस्तानी आर्टिस्ट्स को बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री में पूरी तरह से बैन करने की मांग रखी। इस विरोध प्रदर्शन के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारे लगे।

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉयीज के अध्यक्ष अशोक पंडित ने इस प्रदर्शन का एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लाइज (FWICE) ने पुलवामा हमले में शहीद हुए हमारे जवानों के लिए अपनी एकजुटता दिखाना शुरू कर दिया। 24 एसोसिएशन ने मिलकर फिल्मसिटी में इस आतंकी हमले के लिए पाकिस्तान की निंदा की।’

 

ख़ास ख़बर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By संतोष ठाकुर

जगदलपुर। आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा अनेक नशा मुक्ति कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, जिसमें ड्रग फ्री इंडिया अभियान सोशल मीडिया में तेजी से चल रहा है। ड्रग फ्री इंडिया सोशल मीडिया पर भारत की ड्रग्स की समस्या पर विस्तृत चर्चा आरंभ हो गई है। इस अभियान मे लगभग 80 सेलिब्रिटीज, बिजनेस लीडर्स, पॉलिटिकल नेता और प्रमुख खिलाड़ी इस अभियान से जुड़ गए हैं।

श्री श्री रविशंकर आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक ने बताया कि अपने तनाव को संभालने में आध्यात्मिक माध्यम से सहारा लेते हैं, तो आपका दृष्टिकोण जीवन के प्रति बदल जाता है। अनेक युवा इस प्रकार के नशे से ग्रस्त होकर अपने जीवन को नष्ट कर रहे हैं। इस भयंकर विकट समस्या का अंत करने के लिए संस्था ने भारतवर्ष में ड्रग फ्री इंडिया अभियान चलाया है।

इस अभियान में एक हिस्सा सोशल वैलनेस एंड अवेयरनेस ट्रेनिंग क्लब है, जिसने कॉलेज कैंपस में जाकर इसके प्रति जागरूकता फैलाई है। इस क्लब में विद्यार्थी, प्राध्यापक, चिकित्सक और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं। उन्होंने यह कार्यक्रम पूरे वर्ष चलाया है और युवाओं को इस ओर जाने से रोकने का प्रयास किया है।

बेंगलुरु और कोलकाता में चलाए गए डीएडिक्शन केंद्रों पर लगभग 3000 युवाओं को ड्र्ग्स से मुक्ति दिलाई है और 200000 लोगों को इसके प्रति सजग किया है।

एम्स के साथ मिलकर विद्यालय स्तर पर अनेक इस तरह की कार्यशाला आयोजित की, जिसमें 4 राज्यों के 1000 विद्यालय जिसमें प्रिंसिपल विद्यार्थी अध्यापक नीति निर्धारक और प्रशासनिक अधिकारियों ने ड्रग के प्रयोग को रोकने के सुझाव दिए। इन कार्यक्रमों में ड्रग्स से बचाव की नीति जीवनशैली में परिवर्तन के कार्यक्रम और आर्ट ऑफ लिविंग यूथ एंपावरमेंट सेमिनार के माध्यम से ड्रग के प्रयोग को रोकने के तरीके बताए गए हैं। 19 फरवरी को गुरुदेव श्री श्री रविशंकर प्रसिद्ध बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त के साथ उपस्थित रहेंगे।

बॉलीवुड की अन्य सितारे जैसे वरुण धवन, सोनाक्षी सिन्हा, परिणीति चोपड़ा कपिल शर्मा और बादशाह भी भारत को ड्रग्स फ्री करने के लिए इस अभियान में शामिल होंगे।

Subcategories

The Voices FB