सुकमा पोटाकेबिन आश्रम में फिर एक बार लापरवाही का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक पोटाकेबिन आश्रम से दो छात्र आश्रम से लापता हो गये हैं। दीपावली छुट्टी में पालक छात्र को लेने आश्रम में पहुंचे तो पता चला कि छात्र लापता है। आरोप है कि अधीक्षक के व्दारा मारपीट करने की वजह से छात्र  आश्रम से निकल गये।

यह मामला तोगंपाल पोटाकेबिन आश्रम का है, जहां भुनेश कुहड़ामी और राकेश नाम के छात्र लापता हो गये। जानकारी के मुताबिक 24 अक्टूबर को पालक जब आश्रम में भुनेश को लेने पहुंचे तो पता चला कि 21 अक्टूबर से ही दोनों छात्र लापता हैं। दोनों बच्चों के परिजनों को पता चलते ही खोजबीन करने लगे लेकिन अब तक दोनों छात्रों का पता नहीं चल पाया है।

परिजनों का आरोप है कि तोगंपाल थाना जाकर प्रथम रिपोर्ट दर्ज कराने पर थाना प्रभारी ने आश्रम अधीक्षक ने पीड़ित परिजनों की रिपोर्ट दर्ज करने से साफ मना कर दिया। बताया जा रहा है कि इनके अलावा और भी छात्र आश्रम से लापता हैं वहीं इन छात्रों के परिजन का भी कोई पता नहीं है। पीड़ित परिजन बच्चों को दस दिन से ढूंढ रहे हैं।   

इस मामले में थाना प्रभारी विजय पटेल ने बताया कि- ‘पीड़ित परिजन गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने थाने पहुंचे थे लेकिन उन्होंने अन्य लापता बच्चों के परिजनों के साथ में रिपोर्ट लिखाने की बात कही। इसके बाद पुलिस टीम पोटाकेबिन पहुंची और शिक्षकों को बच्चों की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने कहा, लेकिन शिक्षकों की ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।’