कॉर्पोरेट

कॉर्पोरेट

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। कम्पनी के आगे बढ़ने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि उस कम्पनी के कस्टमर्स सुविधाओं से खुश रहें। इस मामले में सैमसंग भारत की नंबर-1 ब्रांड बन गई है। दरअसल सैमसंग उपभोक्ताओं पर ध्यान देने के मामले में अव्वल साबित हुई है। रेटिंग एजेंसी टीआरए की ताजा रैंकिंग में दक्षिण कोरियाई कंपनी ने एक साल में आठ स्थानों की छलांग लगाई है। 2018 की रैंकिंग में सैमसंग आठवें स्थान पर थी। टाटा मोटर्स को दूसरा स्थान मिला है।

टाटा पिछले साल पहले स्थान पर था। एपल तीसरे, हीरो मोटोकॉर्प चौथे और नाइकी पांचवें स्थान पर है। इस बार हर कैटेगरी की अलग-अलग रैंकिंग भी जारी की गई है। दूसरे स्थान पर आने वाली टाटा मोटर्स फोरव्हीलर्स मैन्युफैक्चरर कैटेगरी में पहले स्थान पर रही है। वहीं, कॉमर्शियल वाहनों में आयशर को पहला स्थान मिला है। अल्कोहलिक बेवरेज ब्रांड में बडवाइजर पहले स्थान पर है। अपैरल मैंसवियर कैटेगरी में चेन्नई की कंपनी ओट्टो ने पहला स्थान हासिल किया है।

बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज और इंश्योरेंस कैटेगरी में एलआईसी पहले स्थान पर है। एलआईसी को ओवरऑल रैंकिंग में छठा स्थान मिला है। इसमें एचडीएफसी दूसरे और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया तीसरे स्थान पर है। प्राइवेट बैंकों में एचडीएफसी पहले और कोटक महिंद्रा दूसरे स्थान पर है। आईसीआईसीआई बैंक को तीसरा स्थान मिला है। सरकारी बैंकों में स्टेट बैंक पहले स्थान पर है। पंजाब नेशनल बैंक दूसरे और बैंक ऑफ इंडिया तीसरे स्थान पर है। फाइनेंशियल सर्विस में मुथूट फाइनेंस पहले और सुंदरम फाइनेंस दूसरे स्थान पर है। म्यूचुअल फंड में यूटीआई को और वेंचर कैपिटल में सॉफ्ट बैंक को पहला स्थान मिला है।

कॉर्पोरेट

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) अपनी ईस्ट-वेस्ट पाइपलाइन लिमिटेड कनाडा की इन्वेस्टमेंट कंपनी ब्रुकफील्ड को बेचेगी। ब्रुकफील्ड स्पॉन्सर्ड पाइपलाइन इन्फ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड (PIPL) में 100 फीसदी इक्विटी का अधिग्रहण करेगी। पीआईपीएल पाइपलाइन बिजनेस ऑपरेट करती है।

कनाडा की इन्वेस्टमेंट कंपनी ब्रुकफील्ड रिलायंस इंडस्ट्रीज की ईस्ट-वेस्ट पाइपलाइन लिमिटेड को 13,000 करोड़ रुपए में खरीदेगी। एग्रीमेंट के मुताबिक पाइपलाइन की रिजर्व कैपेसिटी प्रति दिन 56 मिलियन मीट्रिक स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर से घटाकर 33 मिलियन मीट्रिक स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर की जाएगी। बता दें कि ईस्ट-वेस्ट पाइपलाइन लिमिटेड का नाम पहले रिलायंस गैस ट्रांसपोर्टेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड था। यह 1400 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन का संचालन करती है। इसके जरिए रिलायंस इंडस्ट्रीज के केजी बेसिन ब्लॉक की नेचुरल गैस का ट्रांसपोर्ट किया जाता है।

आंध्रप्रदेश के काकीनाडा से शुरू होकर गुजरात के भरूच तक जाने वाला ईस्ट-वेस्ट पाइपलाइन इन्फ्रास्ट्रक्चर घाटे में है। इसकी क्षमता का सिर्फ 5% संचालन हो रहा है। रिलायंस के केजी डी 6 ब्लॉक से पिछले कई सालों से उत्पादन में कमी दर्ज की जा रही है।

कॉर्पोरेट

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। आजकल ऑनलाइन ठगी के मामले सामने आ रहे हैं। साथ ही ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड के मामले काफी बढ़ गए हैं। फ्रॉड से बचने के लिए बैंक समय-समय पर अपने खाताधारकों को चेतावनी देकर सही उपाय और सलाह उपयोग में लाने की सलाह देते हैं। एचडीएफसी बैंक ने हाल में ही कस्टमर्स को ऐसे ही फ्रॉड से बचने के तरीके बताएं हैं, जिन्हें ध्यान में रखकर आप किसी भी बैंक फ्रॉड से बच सकते हैं। 

  • किसी अपरिचित व्यक्ति को एनीडेस्क या अन्य एप इन्स्टॉल की इजाजत न दें क्योंकि इससे आपकेबैंक अकाउंट पर फ्रॉड होेने का खतरा बढ़ जाता है। अगर ये आपके फोन में गलती से भी डाउनलोड हो गया है तो तुरंत डिलीट कर दें।
  • पेमेंट और मोबाइल बैंकिंग का एप के लॉक फीचर अनेबल करके रखें।
  • अनजान कॉलर के विज्ञापन या SMS को आगे न बढ़ाएं।
  • संदिग्ध कॉल को तुरंत काट दें।
  • सर्च इंजन पर मिला कस्टमर सर्विस नंबर फ्रॉड हो सकता, उस पर भरोसा ना करें।
  • किसी कॉलर या व्यक्ति से अपना बैंकिंग पासवर्ड शेयर न करें और न ही उसे फोन में सेव करें।
  • किसी फोन कॉल पर ओटीपी शेयर न करें।
  • अज्ञात कॉलर के यूपीआई एप से पेमेंट करने या रिसीव करने से बचें।
  • कोई भी फ्रॉड होने पर तुरंत फोन बैंकिंग, बैंक ब्रांच या कस्टमर केयर से संपर्क करें।

कॉर्पोरेट

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली पंजाब नेशनल बैंक ने कहा है कि नगदी संकट से जूझ रही प्राइवेट एयरलाइंस जेट एयरवेज को किसी तरह का आपात कोष देने का फैसला वह अकेला नहीं करेगा। जेट एयरवेज पर 8,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। उसे मार्च के अंत तक 1,700 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाने की जरूरत है।

इस पर निर्णय बैंकों द्वारा सामूहिक आधार पर किया जाएगा। बैंक ने यह बात ऐसे समय कही है जब पीएनबी ने जेट एयरवेज के लिए 2,050 करोड़ रुपये का आपात कोष मंजूर किया है। कर्जदाता एयरलाइन के लिए सशक्त परियोजना के तहत निपटान योजना पर विचार कर रहे हैं। इससे पहले जेट एयरवेज ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में स्पष्ट किया था कि उसे पीएनबी से कोई नया कर्ज नहीं मिला है। 

पीएनबी के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील मेहता ने संवाददाताओं के इस सवाल पर कि क्या बैंक घाटे में चल रही विमानन कंपनी को अकेले नया कर्ज देने पर विचार कर रहा है, कहा, ‘जेट एयरवेज को और कर्ज देने के बारे में हम सामूहिक रूप से फैसला करेंगे। इस बारे में प्रस्ताव अंशधारकों की भागीदारी के साथ आएगा। हम इस पर काम कर रहे हैं।’  मेहता ने यहां फिक्की-आईबीए के एक कार्यक्रम के मौके पर अलग से बातचीत में यह बात कही। 

The Voices FB