कॉर्पोरेट

रायपुर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। कैट छत्तीसगढ़ चैप्टर द्वारा आयोजित पांच दिवसीय नेशनल ट्रेड एक्सपो 2019 का उद्घाटन केबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर महापौर प्रमोद दुबे, विधायक कुलदीप जुनेजा, विधायक विकास उपाध्याय की उपस्थिति में हुआ। इस दौरान पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों की शहादत में एक्सपो में पहुंचे सभी लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। कैट ने शहीद परिवारों के नाम मुख्यमंत्री राहत कोष में एक लाख रुपए का चेक दिया।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर परवानी ने कश्मीर के पुलवामा में हुई घटना पर दुख जताते हुए कहा कि-‘पूरा कैट परिवार समेत देशवासी शहीद जवानों के साथ हैं। चूंकि कैट के सी.जी. चेप्टर की ओर से पांच दिन के नेशनल ट्रेड एक्सपो का आज शुभारंभ होना था लेकिन दुख की इस घड़ी में केवल औपाचारिक उद्घाटन करने के साथ शेष अन्य सारे कार्यक्रम शोक में स्थगित कर दिए गए हैं। ऑटोमोबाइल में नए वाहनों की लांचिंग व सांस्कृतिक कार्यक्रम भी स्थगित कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए एक्सपो में किसी और दिन आने का आश्वासन दिया और आयोजन को सादगी के साथ शुरूआत करने के लिए अपना संदेश भेजा।’

इस दौरान कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मंगेलाल मालू, विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोशी, कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, प्रवक्ता राजकुमार राठी, कैलाश खेमानी, नरेन्द्र दुग्गड़, राकेश ओछवानी, अजय तनवानी, राम मंधान, भरत जैन, वासु माखीजा, नरेश चंदानी, कन्हैया गुप्ता, जितेन्द्र गोलछा, संजय जादवानी, जनक वाधवानी, विजय शर्मा, रोहित सिंघानिया समेत सभी पदाधिकारियों, स्टॉल होल्डर्स व एक्सपो में पहुंचे विजिटर्स भी उपस्थित थे।

Tags: ,

दुर्ग संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By रमेश गुप्ता

भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र से निकलने वाले गंदे पानी से नालों का पानी दूषित हो रहा है। संयंत्र से निकलने वाले गंदे पानी को बिना ट्रीटमेंट के नालों में छोड़ना गैर जिम्मेदाराना और अवैधानिक कृत्य है।  इस मामले में नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त एसके सुंदरानी ने भिलाई इस्पात संयंत्र के सीईओ को नोटिस भेजा है।

भिलाई इस्पात संयंत्र से निकलने वाले गंदे पानी को कोसा नाला और तेल्हा नाला में छोड़ा जाता है। पानी के परीक्षण रिपोर्ट के अनुसार यह नालों को दूषित कर रहा है क्योंकि बिना किसी ट्रीटमेंट के इसे नालों में प्रवाहित किया जा रहा है। किसी विषैले या प्रदूषक पदार्थ जो कि मानकों के अनुरुप न हो किसी भी नदी, कुएं या सार्वजनिक जल स्त्रोत में नहीं छोड़ा जा सकता है।

नगर निगम मुख्य कार्यालय में बीएसपी के अधिकारियों के साथ 3 बार इस मामले में बैठक भी ली जा चुकी है उसके बाद भी बीएसपी प्रशासन ने गंदे पानी के समुचित उपचार की व्यवस्था के संबंध में कार्यवाही नहीं की। संयंत्र से निकलने वाले प्रदूषित जल को उपचार के बाद ही नालों में छोड़े जाने की जल्द से जल्द कार्यवाही सुनिश्चित करने और कृत्य कार्यवाही से इस कार्यालय को अवगत कराने हेतु बीएसपी प्रशासन को पत्र लिखा गया है।

बता दें कि बेलोदी के पास नाले में प्रदूषित जल होने के कारण वहां आसपास बीमारी फैल रही है। अपशिष्ट जल निराकरण, शुद्धिकरण किये जाने की त्वरित कार्यवाही किये जाने की आवश्यकता है। इससे पर्यावरण को होने वाली क्षति एवं संक्रामक बीमारियों से निजात मिल सकेगी।

The Voices FB