रायपुर। छत्तीसगढ़ की विपक्षी पार्टियां कोरोना महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार की ओर से की गई व्यवस्थाओं को लेकर हमलावर हैं और उन्हें असफल करार दे रहीं हैं। इसी बीच जगदलपुर से कांग्रेस के विधायक और संसदीय सचिव रेखचंद जैन का एक बयान भी सुर्खियों में है। विधायक रेखचंद जैन ने कहा है कि कोरोना महामारी PM मोदी की देन है और इस महामारी से लड़ पाने में केंद्र सरकार कमजोर साबित हुई है। 

दरअसल जगदलपुर विधायक का यह बयान भाजपा के बड़े नेता और छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री केदार कश्यप के उस बयान के बाद आया जिसमें पूर्व मंत्री ने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कोरोना संक्रमण से निपटने में सरकार के प्रयासों को असफल करार दिया।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता केदार कश्यप ने छत्तीसगढ़ सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा- 'सरकार कोरोना को रोक पाने में लगातार असफल हो रही है, राजधानी रायपुर सहित पूरे प्रदेश में हालात बेकाबू होते जा रहे है। बस्तर में भी हालत बिगड़ रहे है और स्वास्थ्य विभाग भी उदासीन दिख रही है। लोगो को ईलाज के लिए भटकना पड़ रहा है। 

पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना पीड़ितों को ईलाज शुरू करने के तीसरे दिन ही उनकी रिपोर्ट नेगेटिव बताकर उन्हें छोड़ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं राज्य में कोरोना के नाम पर हो रहे बड़े भ्रष्टाचार की ओर इशारा  कर रही हैं और इस विषय पर जांच होना आवश्यक है।

जगदलपुर से कांग्रेस विधायक और संसदीय सचिव रेखचन्द जैन ने पूर्व मंत्री के आरोपों को नकारते हुए कहा कि इस महामारी में प्रदेश सरकार बेहतर काम कर रही है। विधायक ने कोरोना महामारी को PM मोदी की देन बताते हुए कहा कि है कोरोना से लड़ पाने में केंद्र सरकार कमजोर साबित हो रही है। छत्तीसगढ़ सरकार की तारीफ करते हुए विधायक रेखचंद जैन ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना से चल रही लड़ाई अच्छे से लड़ रही है। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार के प्रयास भाजपा वालों को नही दिख रहे हैं।