1 बजे से पकड़े गये आरोपी पर रात 9 बजे तक नहीं हुआ एफआईआर

 भोपाल। सेंट्रल जेल में अदालत के जरिए नशीले पदार्थ की तस्करी का बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल शुक्रवार को सुरक्षा में लगे स्टाफ की नजर इस गड़बड़ी पर पड़ गई और तस्करी कर रहे एक युवक को पकड़ लिया गया। हैरानी की बात ये है कि चरस सप्लाई कर रहे युवक को दोपहर 1 बजे पकड़ा गया था, लेकिन एमपी नगर पुलिस ने रात 9 बजे तक उस पर एफआईआर तक नहीं किया गया था।

यह घटना भोपाल की है, जहां अदालत के बंदी गृह से आरक्षक रामसेवक और महावीर तिवारी तीन अन्य पुलिसकर्मियों के साथ कुछ आरोपियों को सीजेएम कोर्ट में पेशी कराने लेकर आए। वहां पहले से मौजूद एक युवक ने जेल से पेशी पर आए बंदी को कुछ सामान देने की कोशिश की। आरक्षक रामसेवक ने विरोध किया, लेकिन युवक लगातार प्रयास करता रहा। संदेह होने पर रामसेवक और महावीर ने युवक को दबोच लिया। उसके पास से चरस के दो गोले मिले। पुलिस ने सीजेएम को जानकारी दी।

चरस के साथ पकड़ाए युवक को पुलिस अदालत परिसर से एमपी नगर थाने ले गई। पुलिस की नाकामी छुपाने के लिए रात 9 बजे तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई। रात 9 बजे एमपी नगर टीआई मनीष राय ने कहा कि अभी आधे घंटे में एफआईआर दर्ज हो जाएगी इसके बाद पूरी जानकारी दे सकेंगे। टीआई ने कहा कि कार्रवाई में समय तो लगता है न।