तनवीर आलम

जशपुर। कर्ज के बोझ में दबकर किसान के आत्महत्या करने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। आज शनिवार को जशपुर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार की वादा खिलाफी के संबंध में राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। इस दौरान प्रदेश के पूर्व खादी ग्रामोद्योग बोर्ड अध्यक्ष कृष्ण कुमार राय ने कांग्रेस सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि- ‘कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ नहीं होने के कारण किसान ने आत्महत्या कर ली है।’

उन्होंने कहा कि- ‘बस कागजों में कर्ज माफी की गई है। इसकी हकीकत कुछ और ही है। कर्ज माफी नहीं होने की वजह से चरईडांड़ निवासी मोहन राम निराला ने 20 जून को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।’ निराली बीजेपी के किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष भी थे। राय ने बताया कि कुनकुरी के इलाहाबाद बैंक में उनका केसीसी से 4 लाख का लोन है, जो माफ नहीं हुआ। इसके अलावा मोहन राम ने परिवार की जीविका के लिए साहूकारों से भी जमीन बंधक रखकर पैसे लिए थे। मोहन राम ने अपने आत्महत्या से पहले लिखे पत्र में इस बात का विस्तार से जिक्र भी किया है। राय ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार की कथनी और करनी में अंतर है। उन्होंने जल्द से जल्द पीड़ित पक्ष को 10 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की हैं।