रतलाम। एक महिला ने अपने तलाकशुदा पहले पति और उसके चार रिश्तेदारों पर सामूहिक दुष्कर्म और जहर पिलाकर मारने की कोशिश का आरोप लगाया है। पीड़िता के मुताबिक एक माह पहले ही उनसे तलाक ले चुके पहले पति ने उनके मौजूदा पति के साथ मारपीट की थी। इस मामले में पीड़िता मुख्य गवाह है। इसलिए आरोपी उनपर बयान बदलने के लिए दबाव बना रहे थे, लेकिन महिला के ऐसा करने से मना करने पर पहले पति इस बर्बर घटना को अंजाम दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला रतलाम जिले के आलोट थाना क्षेत्र का है। पीड़ित महिला का आरोप है कि सोमवार के दिन महिला कपड़े सिलवाने के लिए जा रही थी, उसी वक्‍त रास्ते में पहले पति ने अपनी बहन, जीजा और दो भांजों के साथ मिलकर महिला का अपहरण कर लिया। महिला को सोमवार रात खेत पर ले जाकर पहले तो आरोपियों ने जमकर शराब पी फिर पहले पति के दोनो भांजों ने उससे दुष्कर्म किया और उसको सिगरेट से दागा। इसके बाद भी महिला बयान बदलने के लिए नहीं मानी तो महिला एक पहले पति से उसे कीटनाशक पिलाकर सड़क पर फेंक दिया।

ग्रामीणों की नजर सड़क पर बेहोश हालात में लेटी हुई महिला पर गई, उन्होंने इस बात की सूचना पुलिस को दी और पीड़िता को ताल कस्बे के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया। पीड़िता की हालत नाजुक देखकर उसे रतलाम के जिला अस्पताल में रेफर किया गया है, जहां उसका ईलाज जारी है।

इस मामले में एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि ताल थाना पुलिस ने अपहरण, रेप, मारपीट सहित विभिन्न धाराओं में आरोपियों पर मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने चारों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। आरोपियों में से एक महिला की गिरफ़्तारी अभी तक नहीं हो सकी है।