प्योंगयांग। उत्तर कोरिया के तनाशाह किम जोंग अपने क्रूर रवैये के लिए जाने जाते है। किम जोंग कि हैवानियत अक्सर सुर्ख़ियों में बनी रहती है। इस क्रूर तानशाह ने इस बार अपने ही जनरल को तख्तापलट की साजिश में बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। किम जोंग ने जनरल के शरीर को अंग भंग करवा कर पिरान्हा  मछली के टैंक में डलवा दिया। दावा किया जा रहा है कि टैंक में फेंके जाने से पहले जनरल के हाथ और धड़ काटे गए थे। हालांकि यह  स्पष्ट नहीं है कि जनरल मछली के काटने से मरा, टैंक में डूबकर या फेंके जाने के पहले ही मर चुका था। पिरान्हा मछलियों के दांत बेहद नुकीले होते हैं, जो मिनटों में मांस को चीड़-फाड़ देते हैं।

 पिरान्हा से भरे टैंक में फिंकवाना जेम्स बॉन्ड फिल्म से प्रेरित

सूत्रों का दावा है कि उत्तर कोरियाई नेता ने 1965 में आई जेम्स बॉन्ड की फिल्म यू ओनली लिव ट्वाइस से प्रेरित होकर इस घटना को अंजाम दिया। फिल्म के विलेन ब्लोफेल्ड के पास पिरान्हा से भरा एक पूल होता है, जिसमें वह अपने सहयोगी को फेंक देता है।

मार्च में अमेरिकी राजनयिक को फायरिंग स्क्वाड से मरवा दिया

इससे पहले ट्रम्प के साथ किम की मीटिंग तय कराने वाले विशेष प्रतिनिधि किम ह्योक चोल को तानाशाह को धोखा देने का दोषी पाया गया था। उन्हें मार्च में एयरपोर्ट पर विदेश मंत्रालय के चार वरिष्ठ अफसरों के साथ फायरिंग स्क्वाड से मरवा दिया गया। वह अपने सेना प्रमुख, उत्तर कोरिया सेंट्रल बैंक के सीईओ और क्यूबा और मलेशिया में राजदूतों को भी मरवा चुका है।

भय बनाने के लिए देता है ऐसी सजा

ब्रिटेन के खुफिया विभाग के मुताबिक, पिरान्हा टैंक में फेंकवाना किम के सजाओं में से एक है। वह लोगों में भय बनाने के लिए अपने दुश्मनों को ऐसी सजा देता है। वह इसका इस्तेमाल पॉलिटिकल टूल के रूप में करता है।