रायपुर। छत्तीसगढ़ आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो एवं भ्रष्टाचार निवारण ब्यूरो ने मंगलवार को 2500 रुपए की रिश्वत लेते हुए सहायक ग्रेड-3 कर्मी को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। 

एसीबी से मिली जानकारी के अनुसार निदेशक एवं पुलिस उप महानिरीक्षक आरिफ शेख के मार्गदर्शन में एवं पंकज चन्द्रा, पुलिस अधीक्षक, एसीबी के दिशानिर्देश पर भ्रष्टाचार रोधी कार्यवाही के अंतर्गत मंगलवार को एसीबी बिलासपुर की टीम द्वारा उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं,जांजगीर चांपा के कार्यालय में पदस्थ, सहायक ग्रेड-3 दीपक कुमार यादव को 2,500/रूपये की राशि रिश्वत के रूप में लेते हुए रंगे हाथो पकड़ा गया।

प्रकरण में प्रार्थी ने एसीबी बिलासपुर में शिकायत की थी कि वह पत्नी के ईलाज के लिए 1 लाख रूपये पार्ट फाइनल निकलवाने हेतु उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं,जांजगीर चांपा में आवेदन दिया था। जिसे स्वीकृत कराने के लिए कार्यालय में पदस्थसहायक ग्रेड-3 दीपक कुमार यादव द्वारा 5 हजार रूपये रिश्वत की मांग रहा था।

एसीबी के अनुसार आवेदक और आरोपी के बीच मंगलवार को रिश्वत की पहली किस्त की राशि 2,500 रूपये देने पर सहमती बनी जिस पर एसीबी, बिलासपुर की टीम द्वारा जाल बिछाकर आरोपी को प्रार्थी से उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं, जांजगीर चांपा के कार्यालय में मंगलवार दोपहर को 2500 रूपये लेने के उपरांत गवाहों के समक्ष रंगे हाथ पकड़ा गया। एसीबी ने आरोपी के विरूद्ध विधिक कार्यवाही कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया।