उदय मिश्रा

राजनांदगांव। डोंगरगढ़ थाने में आज मालखाने में रखी हुई पिस्तौल की सफाई के दौरान एक आरक्षक के पैर में गोली लग गई। थाने में गोली चलने से अफरा-तफरी मच गई,आनन फानन में घायल आरक्षक को डोंगरगढ़ अस्पताल लाया गया,जहा  डॉक्टरों ने आरक्षक की गंभीर स्थिति को देखते हुए मेडिकल अस्पताल राजनांदगांव रेफर कर दिया गया है।

मामला राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ थाने का है। पिस्तौल की साफ सफाई के दौरान अचानक पिस्तौल से फायर हो गया और गोली प्रधान आरक्षक रोहित के पैर में जा लगी। आरक्षक की गंभीर स्थिति को देखते हुए प्रथामिक उपचार के बाद मेडिकल अस्पताल राजनांदगांव रिफर किया गया है।

गौरतलब है की डोंगरगढ़ थाना नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आता है और इसे अतिसंवेदनशील क्षेत्र माना जाता है। करीब दस साल पहले नक्सलियों ने छुरिया थाना में हमला भी किया था।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रधान आरक्षक रोहित पडोति मालखाने में मौजूद बंदूको की सफाई कर रहा था। पिस्तौल को साफ़ करने के दौरान ट्रिगर दबने से गोली चल गई और आरक्षक के पैर में गोली लग गई,थाने में मौजूद अन्य स्टॉफ ने घायल हुए आरक्षक को अस्पताल पहुचाया। गोली चलने के बाद थाने में गोली चलने से अफरा तफरा मच गई। गोली चलने की आवाज़ थाने के आसपास रहने वाले लोगो ने भी सुनी। इस वजह से कुछ देर के लिए यहां तनाव का माहौल बन गया।