कांकेर। छत्‍तीसगढ़ के कांकेर जिले में दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है। दरअसल, शहर के नए बस स्टैंड स्थित लाज के एक कमरे में गुरूवार देर शाम एक ही परिवार के चार सदस्यों का शव मिलने के बाद सनसनी फैल गई। लॉज के कमरे से रायपुर निवासी दंपत्ति व उनके दो मासूम बच्चों का शव मिला है। सूचना के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे। 

नए बस स्टैंड बस्तर लाज में जितेंद्र देवांगन (38) पिता तोरण देवांगन निवासी रायपुरा, जिला रायपुर अपनी पत्नी सविता देवांगन (35) और अपने दो मासूम बच्चियों गुनगुन और टूकटूक के साथ मोटर साइकिल से कांकेर आया हुआ था। बुधवार रात लगभग पौने सात बजे परिवार लाज के कमरे में गया, जिसके बाद उन्होंने दरवाजा नहीं खोला।

गुरूवार को दिनभर दरवाजा नहीं खुलने के बाद रात लगभग नौ बजे लाज के कर्मचारी ने खिड़की से अंदर देखा तो पति-पत्नी का शव फंदे पर झूलता नजर आ रहा था। लेकिन बच्चे नजर नहीं आ रहे थे। कर्मचारी ने लाज के मैनेजर को जानकारी दी। मैनेजर ने तत्काल घटना की सूचना पुलिस को दी।

सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और कुछ ही देर में पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा सहित अन्य पुलिस अधिकारी भी माैके पर पहुंच गए। पुलिस ने कमरे अंदर जाकर देखा तो पति-पत्नी के साथ कमरे में उनके दोनों मासूम बच्चों का शव भी मिला।

आशंका जताई जा रही है कि पति-पत्नी ने फांसी लगाकर आत्महत्या के पहले अपने बच्चों को जहर दिया होगा, जिससे उनकी मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा ने बताया कि पति-पत्नी में शव फांसी के फंदे पर लटकता मिला है। साथ ही उनके बच्चों के शव मिले हैं। जिसे देखकर प्रथम दृष्टिया लग रहा है कि दंपत्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है और बच्चों को जहर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।