रायपुर रायगढ़ में मोदी आज फिर काँग्रेस पर जम कर बरसे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रायगढ़ जिला का कोंडातराई में उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया एवं कहा की काँग्रेस ने अपने 55 साल के कार्यकाल में गरीबों को बर्बाद किया. वहीं हमने अपने 55 महीने के कार्यकाल में अलग-अलग योजनाओं के जरिए गरीबों में नया जोश भरा है, उनमें नया विश्वास जगाया है. आज गरीब अपना हिसाब मांग रहा है

प्रधानमंत्री ने प्रदेश सरकार के सीबीआई को प्रवेश नहीं देने के निर्णय पर तंज कसते हुए कहा कि जब किसी ने कुछ किया ही नहीं तो फिर वह जांच से क्यों डरेगा. वहीं कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर टिप्पणी करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ को कांग्रेस का एटीएम बनाना है. इसके लिए व्यवस्था बदली जा रही है. गांधी परिवारों के ज्यादातर सदस्यों के विरुद्ध अदालतों में मामले चल रहे हैं. किसी पर टैक्स चोरी, तो किसी पर प्रापर्टी में घोटाला का मामला है, जिसमें या तो जमानत पर बाहर हैं, या फिर अग्रिम जमानत लेकर बैठे हैं. लेकिन चौकीदार अलर्ट है. दलाल मामा और चाचा को भारत लाकर जांच एजेंसियों के हवाले किया जा रहा है



प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछली बार आपने मजबूत सरकार के लिए बहुमत वाली सरकार दिया था. अबकी बार कुछ शक्तियां सरकार बनाने के लिए जुट रही हैं. इस साजिश के प्रति आपको जागरूक रहने की जरूरत है. इस महामिलावट वाले गठबंधन को लेकर आपको सतर्क रहना पड़ेगा. मिलावट वाली चीज को तो गरीब, अनपढ़ आदमी भी नहीं हाथ लगाते हैं, इससे स्वास्थ्य खराब होता है. इसलिए आब देश के लोकतंत्र की सेहत और विकास की सेहत को खराब करने वाली मिलावट मंजूर नहीं होगी

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में राष्ट्रीय स्तर के मुद्दों से लेकर स्थानीय मुद्दों को शामिल किया. प्रदेश की भूपेश बघेल सरकार के आयुष्मान योजना के क्रियान्वयन को लेकर की जा रही आनाकानी पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि आज प्रदेश फिर से बरसों पुरानी स्थिति में लौटता दिख रहा है. कैंसर, हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए आयुष्मान योजना में वैज्ञानिक तरीके से लाभार्थी का चयन किया जाता है. कोई किसी का नाम लिस्ट से हटा नहीं सकता, पैसे सीधे अस्पताल के अकांट में जाता है. मरीज को एक भी पैसा अस्पताल को नहीं देना पड़ता है. लेकिन बिचौलियो के सहारे काम करने वाली कांग्रेस इसे कैसे बर्दाश्त कर सकती है, उसे यह योजना रास नहीं आ रही है. इनकी योजना ऐसी है कि जिसमें तुम भी खाओं, मै भी खाऊं ऐसी व्यवस्था हो