रायपुर। भूपेश बघेल सरकार ने फैसला लेते हुए तय किया है कि अब भारसाधक मंत्री ही संबंधित निगम, मंडलों के अध्यक्ष होंगे। कांग्रेस ने सरकार बनते ही पिछली सरकार द्वारा नियुक्त सभी निगम, मंडल, आयोगों के अध्यक्ष हटा दिए थे। तब से संबंधित निगम, मंडलों के सचिव ही अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी निभा रहे थे। लेकिन आज सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मंत्रालय से इस आशय  आदेश जारी कर दिए गए हैं कि अब से संबंधित विभाग के मंत्री ही उस निगम, मंडल के अध्यक्ष होंगे। हालांकि इनमे संवैधानिक आयोगों तथा विधि द्वारा स्थापित, जिसमें अध्यक्ष,उपाध्यक्ष की नियुक्ति अधिनियम के परिप्रेक्ष्य में चयन प्रक्रिया के अनुसार की गई है, उन्हें छोड़ दिया गया है।



इधर सामान्‍य प्रशासन विभाग ने भी एक आदेश जारी किया है कि सभी निगम, मंडलों, आयोगों में संविदाकर्मियों के कार्यों का आकलन किया जाए और जो गैरजरूरी हैं, उनकी सेवा समाप्ति की प्रक्रिया पूरी की जाए, लेकिन जहां ऐसे संविदाकर्मियों की जरूरत है, वहां नियुक्ति की प्रक्रिया की जाए।

देखिए सामान्‍य प्रशासन विभाग का पत्र -

Letter Of GADLetter Of GAD