पूर्व पुलिस कमिश्नर उतरे चुनावी मैदान में

भुवनेश्वर। लोकसभा चुनाव में इस बार एक सीट पर दिलचस्प मुकाबला देखने को मिलेगा। इस सीट पर एक आईएएस और एक आईपीएस का आमना सामना होगा। दरअसल भुवनेश्वर म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) कमिश्नर के तौर पर चर्चित रहीं आइएएस अपराजिता षाड़ंगी को भाजपा द्वारा भुवनेश्वर लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद बीजद ने मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर अरूप पटनायक को मैदान में उतारकर इस सीट को चर्चा में ला दिया है।

भुवनेश्वर लोकसभा सीट पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को चुनाव होना है। अपराजिता षाड़ंगी अपनी स्वच्छ छवि व कुशल प्रशासक के रूप में शहर के लोगों के बीच काफी चर्चित रही। इसके अलावा खुर्दा की जिलाधीश भी रह चुकी हैं। शिक्षा विभाग के सचिव रहते शैक्षिक सुधार को लेकर अपराजिता द्वारा लिए गए निर्णय आज भी आम लोगों के बीच चर्चा का विषय बनते हैं।

बीजू जनता दल द्वारा प्रसन्न पाटशाणी की जगह पूर्व आइपीएस अधिकारी अरूप पटनायक को मैदान में उतारने से लड़ाई रोचक स्थिति में पहुंच गई है।  अरूप पटनायक भुवनेश्वर के लिए नया चेहरा हैं। हालांकि उन्हें बीजू जनता दल की युवा इकाई की जिम्मेदारी दी गई थी। ऐसे में अपराजिता षाडंगी जहां अपने काम के दम पर मैदान में हैं तो अरूप बीजद सुप्रीमो नवीन पटनायक के नाम पर उन्हें पटखनी देने को कमर कसे हुए हैं। इधर, कभी वामपंथियों के गढ़ रहे भुवनेश्वर पर फिर से कब्जा जमाने के लिए सीपीएम ने राज्य संपादक जनार्दन पति को चुनाव के रण में उतारा है। सीपीएम को कांग्रेस का समर्थन होने से यहां मुकाबला दिलचस्प होना माना जा रहा है।