रायपुर। पहले चरण के लोकसभा चुनावों के तहत बस्तर में मतदान हो चुके हैं। अब तक सामने आई जानकारी के मुताबिक यहां 57 प्रतिशत वोटिंग हुई। कई नक्सली धमकियां यहां तक की मतदान से दो दिन पहले ही दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी और 4 जवानों का मारा जाना। इन सबके बाद हुए चुनावों पर छत्तीमसगढ़ में पदस्थज आईपीएस अधिकारी रतन लाल डांगी बस्तर की सुरक्षा में तैनात जवानों के नाम एक संदेश लिखा है।

Big salute to All Jawans of Bastar
बहुत बहुत आभार"
बस्तर मे आपके बिना लोकतंत्र की कल्पना नहीं की जा सकती।वो आप ही जो माओवादियों की खुली चुनौती को न केवल स्वीकार करते हो बल्कि मुंह तोड़ जबाब भी देते हो।
आपकी उत्तम रणनीति , आपका हौंसला ,आपकी कर्तव्यनिष्ठा ,आपका समर्पित भाव ,आपकी निडरता एवम् देशप्रेम की भावना के बिना इन क्षेत्रों में यह चुनाव असंभव ही था।
Maoists ने आम लोगों को मतदान न करने की धमकी दी गई ,प्रोपेगैंडा के लिए एवम लोगों मे भय कायम करने के लिए सोशल मीडिया का भरपूर इस्तेमाल किया। ऐसा बनावटी माहौल तैयार किया गया कि इस क्षेत्र मे केवल माओवादियों का ही हुक्म चलता हैं।तथाकथित बुध्दिजीवी लोग भी ऐसे माहौल बनाने मे उनका भरपूर साथ देते रहते हैं।लेकिन प्रवासी माओवादियों को यह पता होना चाहिए कि यहां के जवानों के खून मे देशभक्ति कूट कूट कर भरी हुई हैं। वो नक्सली जैसे देशद्रोहियों की हर चाल को नाकाम करने सदा तत्पर रहते हैं।यहाँ के रहवासियों मे स्वाभिमान रग रग मे भरा हुआ है ,तुम जैसे लोगों की बंदर भभकी से नहीं डरते है।तुम्हारी धमकी का जबाब भी संवैधानिक तरीक़े से वोट करके देते है।
'जीता बस्तर, जीता लोकतंत्र'!
"We proud all of You"
R.L.Dangi,IPS