नई दिल्ली। ईरान ने इराक स्थित ऐसे सैन्य अड्डों पर एक दर्जन से अधिक बैलिस्टिक मिसाइल दागी जहां अमेरिकी सेना और उसके सहयोगी बल ठहरे हुए थे। इसके बाद ईरान के सरकारी टेलीविजन ने दावा किया है कि इस मिसाइल हमले में 80 लोगों की मौत हुई है, वहीं दूसरी तरफ अमेरिका ने अभी मौत की पुष्टि नहीं की है। दोनों देशों के बीच तनाव अभी भी बना हुआ है। 

ईरान ने दावा किया है कि उसने 22 मिसाइलों से अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हमला किया। अल असद पर 17 और इरबिल पर 5 मिसाइलें दागी गईं। इराक के अनुसार करीब आधे तक मिसाइलों के हमले किए गए।

वहीं इराक़ में अमरीकी सैन्य ठिकाने पर ईरान के मिसाइल हमलों के बाद कच्चे तेल की क़ीमतों में उछाल आई है। एशियन बाज़ार में कच्चे तेल की क़ीमतों में 2.5 प्रतिशत की उछाल आई है और अब ये 69.94 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुँच गई है।

ये उछाल इस चिंता में है कि कहीं मध्य पूर्व से तेल की सप्लाई रुक न जाए। इस ख़बर के बाद सोने की क़ीमतों में भी उछाल आई है। लेकिन ईरान के हमले से अंतरराष्ट्रीय शेयर बाज़ारों में नकारात्मक असर देखने को मिला है।