By मनीष सोनी

सरगुजा। छत्तीसगढ़ का शिमला कहे जाने वाले मैनपाट के अप्रतिम प्राकृतिक सौन्दर्य से पर्यटकों को आकर्षित करने के लिय हर साल मैनपाट महोत्सव का आयोजन किया जाता है। कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने आज जिला कार्यालय के सभाकक्ष में बताया कि इस साल मैनपाट महोत्सव का दो दिवसीय आयोजन 4 एवं 5 फरवरी को किया जाएगा। महोत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इसका शुभारंभ 4 फरवरी को करेंगे।

गौरतलब है कि इस महोत्सव की शुरूआत मैनपाट कार्निवाल के नाम से 2012 के दिसम्बर माह में की गई थी। हर बार महोत्सव में स्कूल, कॉलेज के विद्यार्थी, स्थानीय कलाकार, छत्तीसगढ़ी कलाकार, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाते हैं। साल 2019 में आयोजित यह 7वां मैनपाट महोत्सव है। महोत्सव के भव्य आयोजन की तैयारी प्रारंभ हो गई है। कलेक्टर ने मैनपाट महोत्सव में कर्तव्यस्थ अधिकारियों को दिये गये दायित्वों को समय-सीमा में पूरा करने का निर्देश दिया है।

प्राकृतिक सौन्दर्य एवं मिश्रित संस्कृति

हरी-भरी वादियों कल-कल करती नदियों और झरनों, दलदली का स्पंजनुमा भूतल, मेहता प्वाइंट का आकर्षक मनोहारी परिदृष्य, वन्य प्राणियों के स्वतंत्र विचरण एवं रंग-बिरंगे पक्षियों के कलरव से गुंजायमान प्राकृतिक सौन्दर्य, रोपाखार जलाषय में नौकायन, उल्टा पानी का प्राकृतिक करिश्मा, टाइगर प्वाइंट का रोमांचक दृश्य, फिश-प्वाइंट के बहते झरने से परिपूर्ण समुद्रतल से लगभग 4 हजार फीट की ऊँचाई पर स्थित है मैनपाट। मैनपाट में बौद्ध धर्मावलंबी तिब्बतियों तथा स्थानीय जनजातियों की मिश्रित संस्कृति विद्यमान है। 

आकर्षक एवं विस्तृत महोत्सव स्थल

मैनपाट में रोपाखार जलाशय के समीप विस्तृत क्षेत्र में आकर्षक मंच निर्माण के साथ स्थायी महोत्सव स्थल का विकास किया गया है। रोपाखार जलाशय का सुरूचिपूर्ण सौन्दर्यीकरण किया गया है।   

महोत्सव के आकर्षण

महोत्सव के दौरान नौकायन, जूमरिंग, आर्चरी, पतंग उत्सव, राज्य स्तरीय सायकल रेस, पैरा सीलिंग, रैपलिंग, ट्रेम्पोलिन, वैलीक्रासिंग, हैंगिंग बॉल सहित अन्य रोमांचक खेलों का आयोजन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह

मुख्यमंत्री के आतिथ्य में 4 फरवरी को महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाएगा। इस योजना के तहत नवविवाहित दम्पत्तियों को निःशुल्क उपहार प्रदान किये जाएंगे।    

पर्यटन विकास

मैनपाट में पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए संभाग मुख्यालय अम्बिकापुर से मैनपाट तक के लिए महोत्सव के दौरान 15 बसें संचालित की जाएंगी। पर्यटकों के नियमित आवागमन हेतु 30 मिनट के अंतराल में बसों की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। मैनपाट के टाइगर प्वाइंट, फिश प्वाइंट, मेहता प्वाइंट, दलदली, उल्टा पानी तथा रोपाखार जलाशय तक आने एवं जाने के लिए वाहन की सुविधा होगी। पर्यटकों के लिए आवासीय मोटर की व्यवस्था की जाएगी।

फूड जोन की स्थापना

महोत्सव स्थल के समीप ही फूड जोन स्थापित किया जाएगा। इस जोन में तिब्बती फूड सहित स्वल्पाहार एवं भोजन उपलब्ध रहेगा।

पार्किंग व्यवस्था

पुलिस विभाग द्वारा महोत्सव स्थल के समीप व्ही.आई.पी. एवं सामान्य लोगों के लिए पार्किंग व्यवस्था की जाएगी। व्ही.आई.पी. वाहनों के लिए प्रशासन द्वारा गेट पास जारी किये जाएंगे। इसके साथ ही सामान्य लोगों के लिए भी पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी।

चिकित्सा सुविधा

महोत्सव स्थल पर लोगों के लिए चिकित्सा सुविधा उपलब्ध रहेगी। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को इस हेतु आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिये हैं।

फिल्म फेस्टिवल

महोत्सव स्थल के समीप ही एलईडी पर्दे पर मशहूर फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा। पर्यटक निःशुल्क फिल्मों का आनंद उठा सकेंगे।

संकेतक

महोत्सव स्थल के निर्धारित स्थानों पर महोत्सव स्थल में उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में संकेतक लगाये जाएंगे, ताकि लोगों को बैठक व्यवस्था, पार्किंग स्थल, फूड जोन, पेयजल एवं शौचालय आदि स्थानों तक जाने में सुविधा हो सके।