पुनेश यादव

कांकेर। दंतेवाड़ा उपचुनाव का नतीजा आ चुका है। नतीजे के मुताबिक कांग्रेस ने दंतेवाड़ा की सीट पर कब्जा कर लिया है। कांग्रेस प्रत्याशी देवती महेंद्र कर्मा ने 11,470 वोटों से जीत हासिल की है। जीत के बाद ही प्रदेश भर के नेता उन्हें बधाई दे रहे हैं। इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित किये गये मन्तुराम पवार ने कथित वायरल मैसेज में उन्हें बधाई देते हुए कहा कि- 'मैनें ही दंतेवाड़ा की जनता से कहा था कि डॉ. रमन सिंह और जोगी पार्टी को चुनाव के रणभूमि में ही सबक सिखायें।'

इसके अलावा उस मैसेज में मंतुराम पवार ने कहा है कि- 'डॉ. रमनसिंह और भाजपा समय रहते मेरी बातों को गंभीरता से लेती तो आज रिजल्ट और कुछ होता। ये दुर्गति भाजपा को देखने नहीं मिलता, बल्कि इसकी समीक्षा ना करके मुझे डॉ. रमन सिंह के इशारे पर बिना सो कॉज नोटिस के दादागिरी कर पार्टी से निष्कासित कर दिया गया, जिसके चलते भाजपा को दंतेवाड़ा उपचुनाव में बड़ा नुकसान हुआ और कांग्रेस को संजीवनी साबित हुआ। मैंने वोटिंग के चार दिन पहले ही कहा था, माँई दन्तेश्वरी के पावन भूमि दंतेवाड़ा के उपचुनाव में दूध का दूध और पानी का पानी होगा।

साथ ही उन्होंने अंतागढ़ उपचुनाव के किरदार बताते हुए कहा कि- 'बेचने वाला पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और खरीदने वाला तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह का नाम 18 सितम्बर को पत्रकार वार्ता रायपुर में प्रदेश का जनता के सामने उजागर किया था। अंतागढ़ के उपचुनाव में दोनों ने मिलकर लोकतंत्र की हत्या की है तथा मेरे द्वारा दन्तेवाड़ा के मतदाताओं से अपील की गई थी कि, डॉ. रमनसिंह और जोगी पार्टी को चुनाव के रणभूमि में ही सबक सिखायें। जनता ने रिजल्ट दिखा दिया, मैं दन्तेवाड़ा के मतदाताओं का दिल से आभारी हूँ।'