नई दिल्लीl सोशल मीडिया में फेस एप नाम का एक एप तेजी से वायरल हो रहा हैl  इस एप को 100 मिलयन से भी ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं l वहीं फेसएप को प्ले स्टोर पर 4.4 की रेटिंग मिली हुई हैl दरअसल फेसएप किसी भी व्यक्ति की फोटो को कृत्रिम तरीके से बुढ़ापे की फोटो में तब्दील कर देता हैl

इस एप को रूसी कंपनी ने बनाया हैl फेसएप के जरिये चेहरे का रंग, जेंडर और बुढ़ापे से जवानी में और जवानी से बुढ़ापे में बदला जा सकता हैl  बता दें कि यह फेस एप 2 साल पहले 2017 में आया था, उस समय इसमें किसी भी फोटो को हॉट बनाने का ऑप्शन था, जिससे चेहरे का रंग गोरा किया जा सकता था, जिसके बाद इस कम्पनी पर रंग भेद का भी आरोप लगा l बाद में इस कम्पनी ने इस फीचर को बंद किया और कंपनी ने माफ़ी भी मांगीl

यह एप विवादों से तब घिरा जब सोशल मीडिया में इस एप से प्राइवेसी और सिक्यूरिटी को खतरा बताया जाने लगा l पड़ताल के दौरान हमने पाया कि इस एप में फोटो बदलने की प्रकिया सर्वर से होती है और फेसएप में आपकी फोटो सेव हो जाती हैl जिससे इस डाटा का दुरूपयोग भी किया जा सकता हैl इसके अलावा मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया कि यह एप आपके मोबाइल फोन के डाटा का भी उपयोग कर सकता हैl

सोशल मीडिया पर कई लोगों का दावा है कि इस एप को खोलने से आपके मोबाइल की सारी फोटो इन्टरनेट अपलोड हो जाती हैl

कम्पनी की प्राइवेसी पालिसी के पॉइंट 3 और 4 में लिखा है की इस एप यूज करने वाले का डाटा पार्टनर कंपनी को दिया जा सकता है हालांकि किसी दूसरे कम्पनी को यह डाटा नहीं बेच सकती लेकिन पार्टनर कंपनी को दे सकती हैl

वहीं कंपनी का कहना है कि लोगों की तस्वीरें स्थायी रूप से स्टोर नहीं की जा रही है और न ही पर्सनल डेटा में सेंधमारी की जा रही हैl कंपनी का कहना है कि यूजर्स जिन फोटो का चयन कर रहे हैं सिर्फ उन्हीं को एडिट किया जा रहा हैl