नई दिल्ली। मोदी ने प्रमुख विभागों के सचिवों के साथ मासिक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बातचीत में यह जानकारी दी कि कॉल ड्रॉप की समस्या से आम आदमी ही नहीं, वे भी परेशान हैं। पीएम मोदी ने बताया कि दिल्ली एयरपोर्ट से प्रधानमंत्री आवास तक पहुंचने के दौरान उन्हें कॉल ड्रॉप का सामना करना पड़ता है। 

टेलीकॉम सचिव अरुणा सुंदरराजन ने प्रधानमंत्री से बातचीत के दौरान कॉल ड्रॉप समेत उपभोक्ताओं की दूसरी शिकायतों की जानकारी साझा की थी। तभी मोदी ने अपनी समस्या बताई। प्रधानमंत्री ने यह भी पूछा कि कॉल ड्रॉप पर टेलीकॉम कंपनियों से कितनी पेनल्टी ली गई। इस पर टेलीकॉम विभाग कोई जानकारी नहीं दे पाया।

इस पर टेलीकॉम सचिव ने कहा कि तीन बार कॉल ड्रॉप पर 1 रुपए का चार्ज प्रस्ताव लागू नहीं हो सका। ट्राई के क्वालिटी ऑफ सर्विस नॉर्म्स के मुताबिक, नेटवर्क की दिक्कत जैसे मामलों में ज्यादा पेनल्टी का प्रावधान है। लेकिन मोबाइल ऑपरेटर विरोध कर रहे हैं।