नीरज उइके

कोंडागांव। प्रदेश के बस्तर संभाग की सांस्कृतिक नगरी कोंडागांव के युवा साहित्यकार विश्वनाथ देवांगन उर्फ मुस्कुराता बस्तर अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में भाग लेंगे। हल्बी कविता के सशक्त कलमकार विश्वनाथ देवांगन हरियाणा के कैथल जिला में आयोजित होने वाले दो दिवसीय संगोष्ठी में हिस्सा लेने जा रहे हैं।

इस संगोष्ठी में दुनिया की कई जानी-मानी हस्तियां साहित्य पर विमर्श करेंगे और किताबों का विमोचन और शोध पत्र पेश किये जायेंगे। विश्वनाथ देवांगन अपना शोध पत्र ‘किन्नर : तीसरी दुनिया के लोगों की दशा और दिशा (बस्तर के परिपेक्ष्य में)’ पेश करेंगे। उल्लेखनीय है कि इस युवा साहित्यकार को कई राज्य और राष्ट्रीय पुरूस्कार प्राप्त हो चुके हैं। हाल ही में इनकी दो किताबों का विमोचन भी हुआ है। कई समसामयिक विषयों में इनकी लेखनी लगातार चलती रहती है। इसी कड़ी में ये बस्तर के किन्नरों के दशा और दिशा पर केन्द्रित शोध पत्र पेश करेंगे। विश्वनाथ देवांगन अपना शोध कार्य एडव्होकेट डॉ. नरेश सिहाग संपादक, बोहल शोध मंजूषा के मार्गदर्शन में कर रहे हैं।