देश

ख़ास ख़बर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। देश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए होने वाली जेईई मेन-2018 (ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन) परीक्षा के नतीजे सीबीएसई ने शाम को जारी कर दिया है।

परीक्षा के नतीजे सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in पर घोषित किए गए हैं। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा के रहने वाले सूरज कृष्णा ने टॉप किया है। वहीं सेकेंड सेकेंड स्थान पर भी आंध्रा के ही केवीआर हेमंत कुमार हैं। राजस्थान के पार्थ लतुरिया ने तीसरा स्थान हासिल किया है। सीबीएसई ने ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन मेन (JEE Main) परीक्षा का आयोजन ऑफलाइन मोड में 8 अप्रैल और ऑनलाइन मोड में 15 अप्रैल और 16 अप्रैल को किया था।

ये हैं टॉप- 10

1. भोगी सूरज कृष्णा – आंध्र प्रदेश
2. के वी आर हेमंत कुमार – आंध्र प्रदेश
3. पार्थ लतुरिया – राजस्थान
4. प्रणव गोयल – हरियाणा
5. गट्टू मित्राया – तेलंगाना
6. पवन गोयल – राजस्थान
7. भास्कर अरुण गुप्ता – राजस्थान
8. दाकारापु भारत – आंध्र प्रदेश
9. सिमरप्रीत सिंह सलूजा – दिल्ली
10. गोसूला विनायक श्रीवर्धन- तेलंगाना

दुर्ग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive
रायपुर. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को छत्तीसगढ़ के कांग्रेस अध्यक्ष भुपेश बघेल ने तड़ीपार बताया है। इतना ही नहीं इनकी नजर में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह भी तड़ीपार हैं।
ये बयान उन्होंने मंच से जनता को संबोधित करते हुए दिया। वो पाटन में हुए कांग्रेस के संकल्प शिविर में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग ये खबर फैला रहे हैं कि भुपेश बघेल चुनाव नहीं लड़ेंगे। सही बात है मैं नहीं आप लोग लड़ेंगे। ये लड़ाई सीएम डाॅ रमन सिंह और धरमलाल कौशिक के खिलाफ है। उन्होंने अजित जोगी की ओर इशारा करते हुए कहा कि एक और इनका साथी है जो बार-बार पाटन आ रहा है उसका नाम मुझे लेने की जरूरत नहीं।
आगे उन्होंने कहा कि इनसे बड़े जो गोधरा कांड के आरोपी हैं और गुजरात के तड़ीपार अमित शाह और नरेंद्र मोदी इनसे लड़ना है। तो क्या आप इनसे लड़ने को तैयार हैं ? भुपेश के इस सवाल पर मंच से नीचे बैठे कार्यकर्ताओं और लोगों ने हां में जवाब दिया।

देश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। अगर आप अकेली हैं और जल्दबाजी या गलती से ट्रेन की टिकट नहीं ले सकी हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। अपकी मर्जी के बिना टीटीई भी आपको ट्रेन नहीं उतार सकता। आप जिस जिगह अपने को सुरक्षित महसूस करेंगे या जिस स्टेशन पर आपको उतरने का मन करेगा आप उतर सकती है।

जी हां… आईआरसीटीसी ने अकेली महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए नया नियम बनाया है। लेकिन जानकारी नहीं होने के कारण महिलाएं इसका इस्तेमाल नहीं कर पा रही थी। अब आईआरसीटीसी के निर्देश पर रेलवे अधिकारी महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए टीटीई को इसके अनुरूप निर्देश देते हुए इसका पालन करने को कर रहे हैं।

1989 में बना था कानून
आईआरसीटीसी की ओर से जारी होने वाला यह नियम नया नहीं है। इसे 1989 में ही लाया गया था। नियम में अकेली यात्रा करने वाली महिलाओं-लड़कियों के पास टिकट नहीं होने, स्लीपर की जगह एसी में बैठने, वेटिंग टिकट होने पर महिला को ट्रेन से नहीं उतारने का नियम बनाया गया था। यह नियम अकेली महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लागू किया था। जानकारी नहीं होने के कारण महिलाएं इसका इस्तेमाल नहीं कर पार रही थी।

The Voices FB