नक्सलियों को पकड़ने के लिए जारी है लगातार अभियान 

जगुआर के हेडक्वार्टर में उन्हें दी गई श्रद्धांजलि 

रांची पुलिस जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर है। बतया जा रहा है कि मुठभेड़ में पुलिस के दो जवान शहीद हो गए। मुठभेड़ के बाद पूरे इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान किसी नक्सली के पकड़े या मारे जाने की कोई खबर नहीं है। नक्सलियों को पकड़ने के लिए लगातार अभियान जारी है। झारखंड पुलिस के एडीजी मुरारीलाल मीणा, डीआईजी रांची अमोल वेणुंकांत होमकर ने घटना की पुष्टि की है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह घटना दशम फॉल थाना क्षेत्र के जंगल में शुक्रवार सुबह की है, जहाँ लेस्लीगंज के कुंद्री निवासी अखिलेश राम और रांची के सोनाहातू, चैनपुर राहे निवासी खंजन कुमार महतो की मुठभेड़ में मौत हो गई है। दोनों शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को पोस्टमॉर्टम के बाद झारखंड जगुआर के हेडक्वार्टर लाया गया, जहां उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान शहीद के परिजन भी मौजूद रहे। शहीदों के पार्थिव शरीर को डीआईजी, डीजीपी और उनके साथियों ने कंधा दिया। श्रद्धांजलि के बाद पार्थिव शरीर को उनके परिजनों को सौंप दिया गया। 

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि एक नक्सली दस्ते का मूवमेंट रांची-खूंटी जिला सीमा क्षेत्र में डाकापीढ़ी जंगल तथा आसपास  के ग्रामीण क्षेत्रों में हो रही है। ग्रामीणों के द्वारा सूचना दिए जाने पर झारखंड जगुआर की एक टीम को ऑपरेशन के लिए उस क्षेत्र में भेजा गया। इसी दौरान सुबह चार से पांच बजे के बीच नक्सलियों और जवानों के बीच मुठभेड़ हो गई, जिसमें झारखंड जगुआर का एक जवान शहीद हो गया और एक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घायल जवान को गंभीर हालत में मेडिका अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।