धीरज शिवहरे 

अंबिकापुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की बैठक ली। इस बैठक में कई अहम फैसले लिये गये हैं। मुख्यमंत्री के अनुमोदन के बाद कुल स्वीकृत 42 कार्यों की लागत राशि 2 करोड़ 72 लाख 80 हजार रुपये का अनुमोदन किया गया। बैठक में सीएम भूपेश ने बिजली की समस्या की शिकायत पर जिम्मेदार को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए हैं।  

इसके अलावा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैठक में दिए ये निर्देश:-

  • जाति प्रमाण-पत्र प्राप्त करने में कठिनाईयों की शिकायत सामने आने पर मुख्यमंत्री बघेल ने नियमों का पालन करते हुए तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिए।
  • स्थानीय स्तर पर रोजगार की सुविधाएं दिए जाने के निर्देश।
  • सरगुजा कनिष्ठ चयन बोर्ड का गठन।
  • जशपुर में मानव तस्करी की शिकायत पर सेल गठित कर शिकायतों की जांच के दिए निर्देश।
  • जशपुर में एस्ट्रोटर्फ का काम शीघ्र शुरू करने के निर्देश।
  • बैंकों से पैसा निकालने में कृषकों से पैसा लेने की शिकायत प्राप्त होने पर कोआपरेटिव बैंक के सी.ई.ओ. और बैंक मैनेजर निलंबित।
  • नक्सली प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त वाहन सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश।
  • सड़क निर्माण के मामले में विशेष ध्यान, सीमेंट की उपलब्धता तत्काल सुनिश्चित करने के निर्देश।
  • वॉटर रिचार्चिंग पर जोर, आम नागरिकों को जागरूक करने व प्रोजेक्ट बनाकर राशि खर्च करने के निर्देश।
  • बलरामपुर में मक्का प्रसंस्करण केन्द्र किया जाएगा स्थापित।
  • कृषि को लाभ का क्षेत्र बनाने दिए दिशा-निर्देश।
  • पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु आवश्यक कार्रवाई के निर्देश।
  • डी.एम.एफ. फंड से भवन निर्माण के स्थान पर शिक्षा, स्वास्थ्य पोषाहार कार्यक्रम चलाने व रोजगारमूलक कार्य कराने के लिए दिशा-निर्देश।
  • नक्शा, खसरा की समस्या का शीघ्र निराकरण कराया जाए। कृषकों को कोई समस्या नहीं आनी चाहिए। कृषकों के परेशान होने की स्थिति में कलेक्टर होंगे जिम्मेदार। मुख्यमंत्री ने दिए कड़ी निर्देश।
  • पूर्व से जारी प्रमाण पत्र के आधार पर जन्म के साथ जाति प्रमाण-पत्र जारी करने के निर्देश।
  • सरकारी स्कूलों को डी.ए.वी. को देने के मामले की जांच के निर्देश।