रांची झारखण्ड में जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम के दौरान अलग-अलग जिलो से आये हुए लोगो ने अपनी समस्याएं मुख्यमंत्री को बतायीं। सीएम जनसंवाद के दौरान अफसरों के साथ सीधी बात कर रहे थे। मुख्यमंत्री रघुबर दास ने जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान शिकायतों के आधार पर त्वरित फैसला लेते हुए दागी सीओ और बीडीओ की संपत्ति की जांच एसीबी से कराने का आदेश दिया है।

मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि जिलों में तैनात सीओ और बीडीओ खुलेआम सरकार को बदनाम करने में जुटे हैं। सीएम ने इस दौरान कई जिलों के डीसी को फटकार भी लगाई। और तत्काल प्रभाव से डुमरी गिरीडीह के सीओ को हटाने का आदेश दिया। सीएम ने कहा कि जो अफसर भ्रष्टाचार करते हुए पकड़े जायेंगे, उनके आवास में सरकारी स्कूल खोला जायेगा।



इसलिए किया सीओ को बर्खास्त

एक शिकायत में डुमरी पंचायत सदस्य ने कहा कि उनकी कोई शिकायत नहीं सुनता, लिहाजा उसने पद से इस्तीफा दे दिया। शिकायत सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने डुमरी के सीओ को जल्द हटाने का आदेश जारी किया। साथ ही कहा कि जिलों के सभी दागी बीडीओ और सीओ की जांच होगी कि किसने कितनी संपत्ति अर्जित कर रखी है। सीएम ने कहा कि जिलों के सीओ और बीडीओ ने सरकार को बदनाम कर रखा है।