एजुकेशन / जॉब्स

बस्तर संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By संतोष ठाकुर

जगदलपुर । बस्तर हाई स्कूल के कैडेट 1971 से लगातार स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस की परेड में स्वतंत्र प्लाटून शामिल होते आ रहे हैं। इस वर्ष भी 26 जनवरी गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल हुये और कैडेटों ने मार्च पास्ट में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर शस्त्र रहित प्लाटून में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि आबकारी एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने प्रथम पुरस्कार प्रदान कर कैडेटों को अपने गांव में बेहतर काम करने का संदेश देते हुए बधाई दी है।

इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी एच आर सोम प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले कैडेटों को बधाई देते हुए कहा कि- ‘मेहनत कभी बेकार नहीं जाती कड़ी मेहनत करते रहें, परिणाम अच्छा मिलेगा। इसके अलावा मार्च पास्ट में भाग लेने वाले कैडेटों को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया।’ इस अवसर पर संस्था की प्राचार्या डॉ. सुषमा झा एवं सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं ने भी कैडेटों को बधाई दी और उज्जवल भविष्य की कामना की।

मध्य प्रदेश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

खंडवा। मध्‍यप्रदेश के खंडवा जिले में छैगांव विकासखंड के अंतर्गत मिर्जापुर-भोंडवा ग्राम में गणतंत्र दिवस का पर्व धूमधाम से मनाया गया। यहां के हाईस्‍कूल, मीडिल स्‍कूल और प्राइमरी स्‍कूल ने एक साथ संयुक्‍त रूप से पर्व मनाया। इस मौके पर ग्राम पंचायत के दिवंगत सरपंच की धर्मपत्‍नी के द्वारा ध्‍वजारोहण किया गया। इसके बाद स्‍कूली बच्‍चों ने आकर्षक कार्यक्रमों की प्रस्‍तुतियां दी। गीत, कविताएं और भाषण भी बच्‍चों ने पेश किए। इस अवसर पर बच्‍चों को पुरस्‍कार भी बांटे गए। गणतंत्र दिवस समारोह में सभी शिक्षक-शिक्षिकाएं नजमा अंसारी, दूलीचंद वसाले, तरूण सर, मंडलोई मैडम, रेखा पटेल, निशा पाटीदार, राकेश गोयल, भागीरथ पटेल, संदीप संदुके समेत समस्‍त स्‍कूल स्‍टाफ, बड़ी संख्‍या में स्‍कूली बच्‍चे और ग्रामीण भी मौजूद थे।

बस्तर संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

जगदलपुर डीपीएस की राधिका काले का राज्य स्तरीय विद्यार्थी विज्ञान मंथन में नेशनल लेवल की लिए चयन हो गया है। विद्यार्थी विज्ञान मंथन की परीक्षा रायपुर में आयोजित की गयी थी। 7वीं कक्षा की छात्रा राधिका को 5000 रूपये के पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।

गौरतलब है कि स्कूल प्रशासन ने 5 बच्चों का चयन किया था। जगदलपुर की रहने वाली राधिका विद्यार्थी विज्ञान मंथन में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करेंगी। इस मौके पर विद्यालय की प्राचार्या मनीषा सिंह के अलावा स्कूल के शिक्षकों ने राधिका को बधाई दी।  

कोरबा

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

TI at schoolTI at school

By मनोज यादव

कोरबा। क्राइम और मनचलो पर अंकुश लगाने वाली पुलिस की टीम जब जाँच के दौरान अंधरीकछार के प्राथमिक स्कूल पहुंची। पुलिस को देखकर स्कूल के बच्चे सहम गये। मगर टीआई ने जब उन्हें उलटी गिनती सुनाई बच्चे खुश हो गये। इस दौरान पढ़ाई से संबंधित सवालों का जवाब देने पर उन्हें पुरस्कृत भी किया गया।

दरअसल कोरबा कोतवाली थाना के टीआई रघुनंदन शर्मा लापता बालक की जांच की कार्यवाही के दौरान स्कूल पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने बच्चों को पहाड़ा पढ़कर सुनाने को कहा। सवालों का सही जवाब देने वाले 2 बच्चों को 100-100 रूपये देकर पुरस्कृत भी किया। टीआई ने बताया कि सरकारी स्कूल में बच्चों की पढ़ाई में पहले से काफी बदलाव आया है। उन्होंने बच्चों से सवाल पूछने के बाद खुद भी उल्टी गिनती और बारहखड़ी पढ़ कर सुनाया। जिससे बच्चे भी खुश नजर आए।

Tags: ,

एजुकेशन / जॉब्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। एक बेटी का सपना था सीए बनकर ब्याह रचाने का और संयोगवश शादी की तारीख से ठीक दो दिन पहले सीए परीक्षा का नतीजा आया। रायपुर के बूढ़ापारा की रहने वाली दिव्या पवार अच्छे अंकों के साथ इस परीक्षा में सफल हो गई। इस खुशियों के साथ ही परिवार की खुशियां दोगुनी हो गई। सीए दिव्या पवार का विवाह उत्तरप्रदेश के देवरिया में 25 जनवरी को गोविंद शर्मा से होने जा रहा है।

गौरतलब है कि दिव्या और गोविन्द की सगाई एक साल पहले हो चुकी थी, लेकिन दिव्या ने जब अपनी बात ससुराल पक्ष वालों के समक्ष रखी तो वे भी राजी हो गए थे। दिव्या के चाचा हितवाद न्यूज़ पेपर के यूनिट हेड अनिल पवार ने बताया कि वह शुरू से ही मेधावी थी। एक्सेल एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में उन्होने नियमित कोचिंग ली और अनुभव के लिए संजय झाबक एंड कंपनी में अपनी सेवाएं भी दी। खुद दिव्या अपनी सफलता से तो खुश है लेकिन अपने ससुराल पक्ष वालों का शुक्रिया विशेष तौर पर व्यक्त करती है कि यदि वे राजी न होते यह सपना अधूरा रह जाता है।

The Voices FB