एजुकेशन / जॉब्स

एजुकेशन / जॉब्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर।  सीजीपीएससी की राज्य सेवा मुख्य परीक्षा 2019 का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थी इस परीक्षा में हिस्सा ले सकेंगे। मुख्य परीक्षा के सात पर्चे 23 से 26 जुलाई के बीच होंगे। इस परीक्षा और इसके बाद होने वाले साक्षात्कार के बाद राज्य सेवा के लिए अधिकारियों के 160 पदों पर भर्तियां होंगी।

परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी 7 मई से सीजी पीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। आवेदन की प्रक्रिया 7 जून तक चलेगी। आवेदन फॉर्म में कोई गलती होने पर 10 जून से 17 जून 2019 के बीच उसमें सुधार करवा सकेंगे। मुख्य परीक्षा में 7 पेपर होंगे। हर एक पेपर का पूर्णांक 200 है।

  • 23 जुलाई 2019 (मंगलवार) सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक लेंग्वेज (पेपर-1)
  • दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक निबंध (पेपर-2)
  • 24 जुलाई 2019 (बुधवार) सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक जनरल स्टडीज-1 (पेपर-3)

बस्तर संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

संतोष ठाकुर
जगदलपुर। सोमवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रतिनिधि मण्डल ने जगदलपुर शहर के निजी स्कूलों द्वारा पुस्तक, कॉपी, व्यापारीकरण की शिकायत को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी से चर्चा करने के साथ ही ज्ञापन सौपा गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नगर मंत्री मयंक नत्थानी ने बताया कि निजी स्कूलों द्वारा पुस्तक कॉपी का विक्रय स्वयं स्कूल प्रबंधन द्वारा किया जा रहा या किसी विशेष स्टेशनरी को ठेका देकर शिक्षा का व्यापारिकरण किया जा रहा है। एवम बाजार से अधिक मूल्य पर पुस्तकों का विक्रय किया जा रहा है जो कि CBSE के नियमो के खिलाफ है एवम पालको पर बोझ है।

ABVP ने की ऐसे निजी स्कूलों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही की मांग की एवम जल्द जल्द कार्यवाही न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। जिला शिक्षा अधिकारी एस सोम ने ऐसे स्कूलों की जांच कर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया। प्रतिनिधि मंडल में नगर मंत्री मयंक नत्थानी ,अनिमेष सिंह चौहान,अतुल राव,शुभम बघेल,समीर अंसारी मौजूद थे।

दुर्ग संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

 रमेश गुप्ता

भिलाई।  दुर्ग जिला शिक्षा अधिकारी में भीषण गर्मी को ध्यान में रखते हुए 29 और 30 अप्रैल को जिले के सभी स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए अवकाश घोषित किया है। 

दुर्ग जिला शिक्षा अधिकारी प्रबल सिंह बघेल ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि भीषण गर्मी को ध्यान में रखते हुए जिले के सभी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए 29 और 30 अप्रैल को अवकाश घोषित किया गया है।  यह आदेश जिले की सभी स्कूल जिसमें शासकीय और अशासकीय अनुदान प्राप्त तथा गैर अनुदान प्राप्त स्कूलों के लिए लागू होगा। यह आदेश 27 तारीख से तत्काल प्रभाव से प्रभावशील हो गया है।   

बस्तर संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

मेडिकल कॉलेज को मिल सकती है एमबीबीएस की 100 सीटों की मान्यता

संतोष ठाकुर

जगदलपुर। सोमवार की सुबह डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की 100 सीटों की मान्यता को लेकर दिल्ली से एमसीआई की टीम जगदलपुर पहुंची। जहां मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करने के साथ ही अस्पताल के वार्डो व अन्य जानकारियों को प्राप्त किया, इस दौरान एमसीआई की टीम की जांच करने के दौरान वीडियो भी बनाई गई। एक दिन के लिए जगदलपुर पहुंची टीम पूरी जानकारी लेने के बाद दिल्ली के लिए रवाना हो जायेंगे, जहां वह रिपोर्ट को तैयार करने के बाद इस बात को तय करेंगे के मेडिकल कॉलेज जगदलपुर को 100 सीटों के एमबीबीएस सीट मिल पाएगी कि नहीं, इसका भी फैसला एक माह के अंदर कर दिया जाएगा। एमसीआई टीम के निरीक्षण को देखते हुए मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ यूएस पैकरा ने बताया कि दिल्ली से 2 सदस्य टीम जगदलपुर पहुंची। जिसमें एक डॉक्टर चंद्रमनी मोहंती व डॉ शिवकुमार फाइनल निरीक्षण करने के लिए आए हैं।

 अगर इन एमसीआई की टीमों को डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में किसी भी प्रकार से कोई कमी खामी दिखाई नहीं देती है, तो जल्द ही एमबीबीएस के लिए 100 सीट हो जाएगा, और यहां निरीक्षण अंतिम निरीक्षण होगा। इसके बाद  पीजी की तैयारी को लेकर कमी खामियों को पूरा किया जाएगा। अगर एमसीआई की टीम के द्वारा इस मेडिकल कॉलेज में कुछ कमी खामी नजर आती है तो वे इसके बारे में एक पत्र लिखेंगे, और अधिकारियों को उन कमी खामियों को पूरा करने के बाद फिर से टीम को निरीक्षण करने के लिए जगदलपुर बुलाया जाएगा। जिसके बाद 100 सीटों की मान्यता पूरी कर ली जाएगी, वहीं 5 साल पूर्ण होने पर मेडिकल कॉलेज ने अपनी पूरी कमी खामियों को सुधार लिया है। और इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि आने वाले दिनों में यहां 50 सीटों की जो एमबीबीएस थी, अब वह बढ़कर 100 हो जाएगी। जिसके बाद निरीक्षण कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी। टीम द्वारा जांच करने के बाद डीन कार्यालय पहुंचे जहां चिकित्सकों से पूरी चर्चा करने के बाद वह दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

The Voices FB