जोधपुर एसीबी ने दस हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के मुताबिक पटवारी ने एक खेत के म्यूटेशन के लिए घूस मांगी थी। यह मामला जोधपुर के जालोर की है, जहाँ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने मंगलवार सुबह बाड़मेर जिले की सिवाणा तहसील के रमणिया गांव के पटवारी गोविन्दराम को गिरफ्तार किया है।

इस मामले में एसीबी के उप अधीक्षक अन्नराज ने बताया कि परिवादी डूंगर सिंह व पारसमल ने शिकायत दर्ज कर बताया कि उन्होंने सिवाणा तहसील के रमणिया गांव में छह बीघा जमीन का एक खेत खरीदा। इसका म्यूटेशन भरने के लिए पटवारी गोविन्दराम माली ने चालीस हजार रुपए की मांग कर रहा है। बाद में पटवारी के साथ बातचीत में दोनों के बीच सौदा बीस हजार रुपए में तय हुआ।

सोमवार को शिकायत के सत्यापन के दौरान पटवारी गोविन्दराम ने पांच हजार रुपए दोनों से ले लिए। आज सुबह एसीबी ने पारसमल को दस हजार रुपए लेकर पटवारी के पास भेजा। रमणिया के पटवार भवन ने गोविन्दराम को दस हजार रुपए थमाते ही अन्नराज के नेतृत्व में पहले से तैयार एसीबी की टीम ने उसे दबोच लिया। उसकी जेब से रिश्वत के रूप में लिए गए रंग लगे दस हजार रुपए बरामद कर गोविन्दराम को गिरफ्तार कर लिया गया। एसीबी की टीम गोविन्दराम के घर की तलाशी लेने के साथ उससे पूछताछ कर रही है।