नई दिल्ली: भारत में डीजल और गैस की कीमतें इतनी अधिक हो गई हैं कि पड़ोसी राज्यों में निर्यात की गई गैसोलीन और डीजल की तस्करी शुरू हो गई है। पुलिस के बयान के मुताबिक 1360 लीटर डीजल से भरा एक टैंकर भरत में तस्करी कर के भेजा गया, जहां पर डीजल की कीमतें बहुत अधिक हैं। इसे पिछले हफ्ते ही नेपाल में पकड़ा गया था। कुछ पेट्रोल पंपों पर गैसोलीन या पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर तक का लेवल पार कर गई है। GlobalPetrolPrices.com के अनुसार ये कीमत दक्षिण एशियन क्षेत्र में सबसे अधिक है।

दिलचस्प है कि नेपाल को सारा पेट्रोलियम फ्यूल भारत से ही मिलता है, जो बांग्लादेश और श्रीलंका को भी तेल का निर्यात करता है। बिहार के अदापुर के एक पेट्रोल पंप के मालिक रवि भारती कहते हैं कि नेपाल में टैक्स कम होने की वजह से कीमतें कम हैं, इसलिए फ्यूल की तस्करी नेपाल से भारत को शुरू हो गई है। बता दें कि अदापुर से नेपाल की सीमा महज 2 मील की दूरी पर है। उन्होंने बताया कि इस तस्करी की वजह से अदापुर पेट्रोल पंप की सेल्स पर बड़ा असर पड़ा है।

रवि भारती बताते हैं कि उनके पेट्रोल पंप पर गैसोलीन और डीजल की डेली सेल्स में तगड़ी गिरावट देखी गई है। पहले रोजाना 1800 लीटर तक की सेल होती थी, जो गिरकर अब 1200 लीटर पर आ गई है। उन्होंने बताया की सड़कों के किनारे ही बहुत से लोग तस्करी वाला फ्यूल पेट्रोल पंप की तुलना में काफी कम कीमत पर बेच रहे हैं।