रायपुर। प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के मंगलवार को एकदिवसीय चुनावी दौरे में छत्तीसगढ़ आने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कहा कि कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज दूसरा दौर है, हमने प्रधान मंत्री से उनके पिछले दौरे में कुछ सवाल पूछे थे जिसका जवाब आज तक नही दिया गया है।

बघेल ने अर्रोप लगाया है कि मोदी जब से प्रधानमंत्री बने है तब से आज तक छत्तीसगढ़ से उन्होंने केवल छीना है और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह चुप रहे।

बघेल ने अर्रोप लगाया है कि प्रधान मंत्री मोदी ने छत्तीसगढ़ के साथ सौतेला वयवहार किया और हमारे राज्य को मिलने वाली सुविधाओं में केवल कटौती  करते रहे जिसके कारण पूर्व की भाजपा शासित रमन सिंह की सरकार ने तीन साल तक किसानो को बोनस नही दिया।

केंद्र की भाजपा शासित मोदी सरकार ने कोयले की खदानो को रद्द किये और केवल 42 में से 14 खदानों का ही आबंटन हुआ। इसके अलावा छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली 125 ट्रेनों की संख्या कम कर दी जिससे जाहिर होता है कि भाजपा शासित मोदी सरकार ने छत्तीसगढ़ के साथ घोर अन्याय किया।

छत्तीसगढ़ को अनाज देना बैन हों गया जिसके कारण गरीबो को अनाज बंद हो गया और बीते 15 सालो में गरीबो की संख्या तो बढ़ी पर उनके मिट्टीतेल का कोटा केंद्र सरकार ने कम कर दिया। केंद्र में बैठी भाजपा श्जसित मोदी सरकार वनाधिकार में बदलाव करना चाहती है, जो आदिवासियों के जीवन में विपरीत प्रभाव डालेगा। छत्तीसगढ़ में सिर्फ 17000 PMAY के लगभग आवास बने, मनरेगा का भुगतान अबतक नही हो पाया है जिसके कारण मजदूरों में इस योजना के प्रति विश्वास घट गया है।

छत्तीसगढ़ को मिलने वाले केन्द्रीय बजट को मोदी सरकार ने कम या बंद कर दिया गया है। नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री बनना छत्तीसगढ़ के लिए हानिकारक है, अब केंद्र में कांग्रेस की सरकार आएगी और छत्तीसगढ़ का भला होगा।