रायपुर। अगर पीएसयूज (सार्वजनिक उपक्रमों) का निजीकरण हो गया तो आम आदमी को उससे मिलने वाली सुविधाएं या तो बंद हो जाएंगी या फिर इतनी महंगी हो जाएंगी कि आम उसका लाभ नहीं उठा पाएगा। रेलवे के भाड़े बढ़ जाएंगे, बीएसएनएल के कॉल चार्जेस में इजाफा हो जाएगा, बैंकों के भी तमाम शुल्‍क बढ़ जाएंगे, इसी तरह की सभी ऐसी सुविधाएं महंगी हो जाएंगी जो सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा उपलब्‍ध कराई जाती हैं। यह खुलासा ट्रेड युनियन के युवा नेता शक्ति सिंह ठाकुर ने एक बातचीत के दौरान की है। सेंट्रल बैंक एम्प्लाइज यूनियन के प्रदेश महासचिव और छत्तीसगढ़ बैंक एम्प्लाइज एसोसिएशन के संगठन सचिव के रूप में कार्यरत शक्तिसिंह ठाकुर की बेबाक बातचीत सुनने और देखने के लिए आप नीचे वीडियो पर क्लिक कर सकते हैं।