रायपुर। अनियमित कर्मचारियों के लिए यह एक सुकून देने वाली खबर है कि सरकारी विभागों ने उनका लेखा-जोखा तैयार करना शुरू कर दिया है। हाल ही में लोक निर्माण विभाग में एक पत्र जारी हुआ है, जिसमें 1 जनवरी 1998 से अब तक लगातार काम कर रहे दैनिक वेतनभोगी, तदर्थ, संविदा, श्रमिक के रूप में कार्यरत तृतीय और चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों की जानकारी तैयार करके उसे ईएनसी को भेजा गया है।



 

इस पत्र से अब यह संभावना जताई जा रही है कि पीडब्‍ल्‍यूडी की तरह सभी विभाग अपने अनियमित कर्मचारियों की जानकारी देंगे, ताकि नियमितिकरण की प्रक्रिया पूरी की जा सके। इस पत्र से इस बात का भी पता चल रहा है, कि 1998 के बाद नियुक्‍त कर्मचारियों को प्राथमिक रूप से नियमितिकरण का लाभ मिल सकता है।  

PWDPWD

 

गौरतलब है कि अनियमित कर्मचारियों ने नियमितिकरण के लिए लंबा आंदोलन किया था। उस समय विपक्ष में बैठी कांग्रेस ने कर्मचारियों के आंदोलन का समर्थन दिया था और कहा था कि यदि कांग्रेस की सरकार बनीं, तो उन्‍हें नियमित कर दिया जाएगा। घोषणा पत्र में भी कांग्रेस ने इसे शामिल किया था। अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन गई है, तो अनियमित कर्मचारियों को भी खुशखबरी का इंतजार है।