मुंबई। साल 2015 में सुरेंद्र मित्तल नाम के एक शख्स ने राधे मां के नाम हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी। सुरेंद्र का आरोप था कि राधे मां खुद को देवी दुर्गा का अवतार बताती हैं और धर्म के नाम पर लोगों को गुमराह करती हैं। यही नहीं सुरेंद्र ने यह भी कहा था कि राधे मां लगातार 'I Love You' बुलवाकर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाने का भी दबाव डालती थीं। इस मामले में राधे मां की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

पंजाब स्थित कपूरथला के एसएसपी ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट को जानकारी दी है कि सुरेंद्र मित्तल के मामले में राधे मां का वॉइस सैंपल मैच हो गया है। गौरतलब है पंजाब स्थित फगवाड़ा निवासी सुरेंद्र मित्तल लंबे वक्त से राधे मां को लेकर खुलासे कर रहे थे। कुछ साल पहले फगवाड़ा में जब राधे मां ने खुद को देवी का अवतार बता कर अपनी पूजा करवाने की कोशिश की थी, तब सुरेंद्र मित्तल ने ही विरोध किया था। इसके बाद राधे मां को पंजाब के फगवाड़ा में हाथ जोड़कर जनता से माफी मांगनी पड़ी थी। लेकिन इसके कुछ साल बाद मुंबई में राधे मां ने खुद को देवी का अवतार बताया था।

यहां पढ़ें तीन साल पहले सुरिंदर मित्तल और राधे मां के बीच हुई फोन पर हुई पूरी बातचीतः-

सुरिंदर मित्तल: कौन बोल रहे हो?

राधे मां: सुखविंदर कौर।

सुरिंदर मित्तल : हां बोलो।

राधे मां: जो बोला उसके लिए गालियां निकाल लो, अगर पंसद ना आई हो तो बता दो।

सुरिंदर मित्तल : मुझे गालियां निकालने का कोई शौक नहीं, आपको सुनने का शौक हो तो अलग बात है।

राधे मां : हां, मुझे सुनने का शौक है।

सुरिंदर मित्तल : तो आप रात को 3 बजे क्यों कॉल करते हो?

राधे मां : मैं तो नाइट बर्ड हूं।

सुरिंदर मित्तल : नाइट बर्ड हो तो मैं क्या करुं, मुझे क्यों जगाते हो?

राधे मां : आपकी कॉलर ट्यून बहुत पसंद है.

सुरिंदर मित्तल : पसंद है तो तुम भी लगा लो कॉलर ट्यून।

राधे मां : हां ठीक है।

सुरिंदर मित्तल : हां ठीक है, कर लो फीड कॉलर ट्यून, रात में डिस्टर्ब मत किया करो मुझे कॉल करके।

राधे मां : ओके, तो दिन में किया करें कॉल?

सुरिंदर मित्तल : हां ठीक है, दिन में कर लिया करो, रात में डिस्टर्ब मत करो।

राधे मां : मतलब तुझे भी मजा आता है बात सुनने में, गालियां निकालने में।

सुरिंदर मित्तल : मैंने तो अभी तक निकाली नहीं कोई गाली, पर जिस दिन दूंगा फिर अच्छे से दूंगा, मुझे कोई शौक नहीं है।

राधे मां : निकाल दो, नो प्रॉब्लम। हम पागल नहीं हैं भैया, हमारा दिमाग खराब है, तुमसे बात करके मैं पागल हो रही हूं। देखो पागलों को पागल ही मिलते हैं। तुम भी पागल, हम भी पागल, पागलों की जोड़ी पागलों के साथ ही बनती है।

सुरिंदर मित्तल : हां, सही बात है।

राधे मां : पागलों को पागलों के साथ ही अच्छा लगता है। देखो ये सारा वर्ल्ड मेरी आवाज सुनने को पागल है और तुम।

सुरिंदर मित्तल : तभी तो उनके सामने बोलती नहीं हो।

राधे मां : तुम पागल हो, पागल को और कैसे पागल किया जाए?

सुरिंदर मित्तल : वो कैसे बदकिस्मत लोग हैं, उन्हें आवाज सुनने को ही नहीं मिलती?

राधे मां : तुम कितने खुशकिस्मत हो, पागल।

सुरिंदर मित्तल : सच्ची में। देखो तुम मुझे बात सुना रही हो और मैं सुन रहा हूं। सच्ची में मैं बदकिस्मत हूं।

राधे मां : पागल, पागल...

सुरिंदर मित्तल : हा... हा... हा...

राधे मां : देखो मैं प्योर हूं, तुमसे इसलिए बात कर रही हूं क्योंकि तुम ज्यादा नाइस हो। मुझे तुम्हारी नजरों में अच्छा बनने की जरूरत नहीं। तुम्हारे जैसा भक्त मेरा दुनिया में नहीं। तुम मुझे सबसे ज्यादा लव करते हो, दिन में 10-12 बार मेरी फोटो देखते हो यूट्यूब पर।

राधे माँ राधे माँ

आरोप है कि राधे मां सुरेंद्र मित्तल को फोन करके धमकाती और फोन पर उससे अश्लील बातें करती थीं। जिसके बाद सुरेंद्र मित्तल ने पंजाब पुलिस से मामले की शिकायत की थी। पंजाब पुलिस द्वारा लंबे वक्त तक कोई कार्यवाही नहीं करने पर सुरेंद्र मित्तल ने हाईकोर्ट में इसे लेकर एक याचिका लगा दी थी। सितंबर 2017 में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने पुलिस को इस बाबत फटकार भी लगाई थी कि आखिर मामले में प्राथमिकी दर्ज क्यों नहीं की जा रही है।