The Voices

The Voices

User Rating: 4 / 5

Star ActiveStar ActiveStar ActiveStar ActiveStar Inactive

संतोष ठाकुर  
जगदलपुर । नियाग्रा वॉटरफॉल से जिसकी तुलना की जाती थी अब उस झरने को देखकर लगा रहा है कि यहां झरना था ही नहीं। चित्रकोट जलप्रपात जो प्रदेश के टूरिज्‍म को देश और दुनिया में फक्र करने का मौका देता था अब वो तकरीबन सूख चुका है। बीते विधानसभा चुनावों से पहले इस झरने की खूबसूरती देश के राष्‍ट्र‍पति राम नाथ कोविंद को भी खींच लाई थी उन्‍होंने यहां रिसॉर्ट में रात बिताई थी। मगर अब यहां कोई नहीं पहुंच रहा। बस्‍तर भी इस सूखे की वजह से हैरान है।

अब तक इस जलप्रपात की वजह से मोटी कमाई करने वाला पर्यटन विभाग भी जलप्रपात को लेकर कोई खास दुख या चिंता में नजर नहीं आ रहा। टूरिज्‍म के क्षेत्रिय प्रबंधनक दीलिप आचार्य ने बात -चीत में वॉटरफॉल के सूखने की बात को नकार दिया वो बोले कि ये सूखा नहीं है नैरो हुआ, हम पर्यटकों के लिए डिस्‍काउंट दे रहे हैं रूम पर। पानी क्‍यों नहीं आ रहा कैसे आएगा ये पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा कि  ये तो टूरिज्‍म बोर्ड नहीं जानता।

प्रशासन से दखल की मांग

क्षेत्र के पूर्व विधायक संतोष बाफना ने कलेक्टर को लिखे लेटर में इस बात का जिक्र किया है कि पिछली सरकार ने जोरानाला के स्ट्रक्चर के निर्माण के वक्त ओडिशा सरकार से कॉन्ट्रैक्ट किया था, इस कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक 50-50 परसेंट पानी दोनों राज्य आपस में बाटेंगे इस बात पर सहमति बनी थी। अब मौजूदा समय में उड़ीसा सरकार अनुबंध के मुताबिक छत्तीसगढ़ को पानी नहीं दे रहा है जो कि उस कॉन्ट्रैक्ट का उल्लंघन है और चित्रकोट जलप्रपात की बदहाली की इसी वजह से हो रही है। पूर्व विधायक ने इस मामले में प्रशासन से दखल की मांग की है।

आंदोलन की तैयारी

दंडक दल नाम की संस्‍था अब इन हालातों पर आंदोलन शुरू कर रही है । संस्था के सदस्य जगदलपुर के कुछ लोगों के साथ मिलकर इंद्रावती नदी में आधे डूबे रहकर जल सत्याग्रह करेंगे । संस्‍था के लोगों ने बताया कि सिर्फ जलप्रपात का ही मुद्दा नहीं है। इस सूखे की वजह से आस-पास के  200 गांव के लोगों की जिंदगी में जलसंकट गहरा रहा है।  390 किमी क्षेत्र में फैली इंद्रावती नदी के अस्तित्व के लिए व्यापक आंदोलन चलाया जाएगा ।

The Voices

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

राजनांदगांव । लोकसभा क्षेत्र मैं सुबह से ही लोगों की भीड़ है मतदान केंद्रों में लोग पहुंच रहे हैं अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने इस दौरान जब सजी शबरी दुल्हन एक वोटिंग केंद्र में पहुंची तो यहां लोग देखते रहे लेकिन अपने पूरे आत्मविश्वास के साथ दुल्हन ने वोट डाला और सेल्फी भी खिंचवाई। 

 यह नजारा था डोंगरगांव के पोलिंग स्टेशन क्रमांक 76 का यहां दुल्हन ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

The Voices

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

गरियाबंद। नक्सल प्रभावित इलाकों में मतदान दलों को रवाना किया जा रहा है। इसी सिलसिले में महासमुंद के चुनाव को सम्पन्न कराने हेलीकॉप्टर से दलों को भेजा गया। 

आमामोरा के मतदान दल को भेजा गया, इसमें 14 सदस्य शामिल थे ।  इस मौके पर कलेक्टर और एसपी मौजूद रहे।

The Voices

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

पुनेश यादव

कांकेर। नेहरू-गांधी परिवार ने बस्‍तर को जल जंगल जमीन का कानून दिया, सुरक्षा का कानून दिया और ये भारतीय जनता पार्टी आई बाथरूम वाला कानून

 जीएसटी वाला कानून, नोटबंदी वाला कानून ला रही है दरअसल यहां कवासी लखमा शौचालय योजना का विरोध कर रहे थे, इसके  लिए उन्‍होंने कह दिया बाथरूम वाला कानून। इसके अलवा लखमा  ने कहा कि राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाएं वो 6 हजार रूपए गरीबों को हर महीने देने की योजना लेकर आए हैं। ये बातें उन्‍होंने  लोकसभा चुनाव के तहत दूसरे चरण में होने वाले कांकेर चुनाव के लिए आयोजित जनसभा में कही। यहां जीत का परचम लहराने तमाम राजनीतिक पार्टियां कोई कसर नही छोड़ना चाह रही है। इसी के चलते  स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंह देव और आबकारी मंत्री कवासी लखमा चुनावी कार्यक्रम में कोरर पहुंचे। हेलीपेड में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मंत्री का जोरदार स्वागत किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री लखमा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी को आड़े हाथों लिया और कहा कि अगर देश मे कोई झूठा पार्टी है तो वो भारतीय जनता पार्टी है।

उन्होनें कहा कि पिछले चुनाव में  मोदी ने कहा था की सबको 15 लाख देंगे, युवाओं को रोजगार देंगे। नरेंद्र मोदी अपना वादा पूरा करने के बजाय कभी चाय वाला तो कभी चौकीदार बन रहे है ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत है।

वहीँ स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंह देव ने कहा कि सरकारी कंपनी के द्वारा खदानों का खनन होना चाहिए और स्थानीय लोगों को खदान में रोजगार देने का अवसर मिलेगा| साथ ही कांग्रेस की घोषणा पत्र से जनता को अवगत किया और कांग्रेस प्रत्याशी को भारी मतों से जिताने की अपील की है।

Subcategories

The Voices FB