रायपुर

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। प्रदेश की राज्यपाल एवं डॉ. सीवी रमन यूनिवर्सिटी बिलासपुर की कुलाधिपति आनंदी बेन पटेल ने कहा है कि विश्वविद्यालयों को शासकीय योजनाओं का लोगों के जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव पर शोध करना चाहिए। उन्होंने टीबी से पीड़ित बच्चों की खोजकर और उनकी देखभाल करने की अपील भी की। राज्यपाल पटेल बिलासपुर जिले के कोटा स्थित डॉ. सीवी रमन विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह को सम्बोधित कर रही थी।

डॉ. सीवी रमन विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में राज्यपाल पटेल ने 202 छात्र-छात्राओं को उपाधि पत्र एवं 99 छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक प्रदान किया। इस अवसर पर अपने उद्बोधन में उन्होंने विश्वविद्यालय के प्रबंधन को इस बात के लिए बधाई दी, कि उन्होंने 5 गांवों को गोद लिया है। उन्होंने अपेक्षा की कि इन गांवों में केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को मिले, इसका प्रयास होना चाहिए। इस पर अध्ययन भी होना चाहिये कि योजनाओं से उनके जीवन स्तर में किस तरह बदलाव आया है। गांवों के सभी बच्चे प्रायमरी स्कूल में दाखिल हों और जो बच्चे 8वीं उत्तीर्ण हो जायें उन्हें 9वीं कक्षा में प्रवेश करायें।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में टीबी रोग एक बड़ी समस्या है। उन्होंने कहा कि टीबी से बच्चों को मुक्त कराने के लिए विश्वविद्यालय, सामाजिक संस्थाएं और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मिलकर काम करें। लायंस क्लबों, कॉलेजों विश्वविद्यालयों को टीबी पीड़ित बच्चों के देखभाल की जिम्मेदारी दें। वे इनको पौष्टिक आहार एवं फल आदि उपलब्ध कराने के लिए काम करें। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में इस तरह का अभियान चलाया जा रहा है।

राज्यपाल पटेल ने इस बात के लिए डॉ. सीवी रमन विश्ववि़द्यालय को बधाई दी कि पूरे देश के विश्वविद्यालयों की स्वच्छता रैंकिंग में उनको तीसरा स्थान मिला हुआ है। दूसरे शैक्षणिक संस्थान भी इससे प्रेरणा लेंगे। उन्होंने कहा कि देश में सबने मन बना लिया है कि देश को, नदी के पानी को, स्कूल को और गांव को स्वच्छ रखना है।

राज्यपाल ने कहा कि प्रयागराज में कुंभ मेले के दौरान 22 करोड़ से अधिक लोगों ने गंगा में डुबकी लगाई। इतनी बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों को किस प्रकार प्रबंधन किया गया इस विषय पर मैनेजमेंट और सोशल वर्क में अध्ययन किया जाना चाहिए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन के महाप्रबंधक सुनील कुमार सोइन, कुलपति आरपी दुबे ने सम्बोधित किया। कुलाधिपति संतोष चौबे ने विश्वविद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि यह प्रदेश का पहला निजी विश्वविद्यालय है और सबसे अधिक छात्र संख्या है। यह अकेला निजी विश्वविद्यालय है, जहां दीनदयाल कौशल विकास योजना संचालित है। उन्होंने सीवी रमन विश्वविद्यालय के सामुदायिक रेडियो केन्द्र और दूरस्थ शिक्षा के बारे में भी बताया।

राज्यपाल ने सीवी रमन विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति रहे एएस झड़गांवकर को शॉल व श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर राज्यपाल व अन्य अतिथियों ने स्मारिका का विमोचन किया। राज्यपाल ने इससे पूर्व विश्वविद्यालय के सामुदायिक रेडियो केन्द्र का निरीक्षण किया। समारोह में छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय नियामक आयोग के अध्यक्ष अंजनी कुमार शुक्ला, अटल बिहारी बाजयेपी विश्वविद्यालय, बिलासपुर के कुलपति डॉ. गौरीशंकर शर्मा, सीवी रमन विवि के विभिन्न संकायों के संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, विभागीय अधिकारी कर्मचारी, प्राध्यापक, छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

 

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। राजधानी रायपुर से लगे मंदिरहसौद थानातंर्गत ग्राम तोड़गांव में सोमवार की अचानक एक विस्‍फोट होने से ग्रामीणों में दहशत फैल गई। यह विस्‍फोट किसी बम के समान था, जिसके कारण घटना स्‍थल पर दो फीट तक गड्ढा हो गया। सूचना पर मौके पर पुलिस मंदिरहसौद पुलिस ने बताया कि कचरे में पड़ा कुछ पुराना विस्‍फोट सामान के जलने से धमाका जैसे आवाज आया। कोई दहशत जैसे बात नहीं है।

सोमवार सुबह करीब 10 बजे की बात है जब मंदिर हसौद से तोड़गांव में हल्के धमाके की आवाज आई। इसके बाद वहां 2 फीट तक गड्ढा हो गया। सूचना पर पुलिस व बम डिस्पोजल स्क्वाड मौके पर पहुंचे। प्रारम्भिक पूछताछ व मौका निरीक्षण पर यह पता चला कि धमाके वाली जगह पर पास के गोदाम के चौकीदार की पत्नी ने कचरा जलाया था, जिसके बाद धमाका हुआ। धमाके वाली जगह से सेफ्टी फ्यूज के टूकड़े मिल हैं। ऐसी संभावना है कि वहां जमीन में पहले से सेफ्टी फ्यूज दबा रहा होगा जो आग की गर्मी से फट गया।

हेलीकॉप्टर से गिराया बम ?

घटना को लेकर यहां तरह-तरह की अफवाहें भी तेजी के साथ फैलने लगीं। घटना स्थल पर लोगों का हुजूम बढ़ने लगा। कुछ लोगों का कहना था कि किसी हेलीकॉप्टर से यह बम गिराया गया है। पुलिस ने इस तरह की किसी भी अफवाह को नकारा है। मौके पर मौजूद टीम विस्‍फोट के कारण की जांच में जुटी है। घटना में किसी भी प्रकार के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

इंदिरा गांधी कृषि विश्‍वविद्यालय रायपुर में संचालित है केंद्र

रायपुर। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर में संचालित चारा अनुसंधान केन्द्र को देश के सर्वश्रेष्ठ केन्द्र के रूप में पुरस्कृत किया गया है। रायपुर केन्द्र को यह पुरस्कार चारा फसलों पर किये गए अनुसंधान की उत्कृष्टता, किसानों के खेतों में इसके प्रसार तथा कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से चारा फसलों के विस्तार के लिए दिया गया है।

आयोजन में पहुंचे कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो वर्ष 2050 तक देश में 10 हजार मीट्रिक टन से अधिक हरे चारे के आवश्यकता होगी। देशभर में पशुओं के लिए हरा चारा का संकट शुरू हो जाएगा। इसके उदाहरण कई राज्यों में देखे भी जा रहे हैं, इसलिए हायड्रोपोनिक तकनीक से हरा चारा का उत्पादन किसानों के लिए काफी कारगर होगा। आने वाले समय में चारे के क्षेत्रफल में बढ़ोतरी होना संभव नहीं है, इसलिए चारा उत्पादन बढ़ाने की जरूरत है।

देशभर में 22 केन्द्र हैं संचालित

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के सहायक महानिदेशक डॉ. आरके सिंह ने बताया कि देश में 176 मिलियन टन दूध का उत्पादन हो रहा है। अखिल भारतीय समन्वित चारा अनुसंधान परियोजना के अंतर्गत देशभर में 22 केन्द्र संचालित हैं। इनमें एक केन्द्र इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर में भी संचालित है। रायपुर का यह केन्द्र वर्ष 2010 से संचालित है और देश का सबसे नवीन केन्द्र है। इस केन्द्र में 10 चारा फसलों पर खरीफ, रबी और जायद तीनों मौसम में अनुसंधान कार्य किये जा रहे हैं। कृषि महाविद्यालय रायपुर में आयोजित परियोजना की राष्ट्रीय समूह की बैठक के दौरान यह पुरस्कार प्रदान किया गया।

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को विधानसभा में प्रश्नोत्तरकाल के दौरान प्लेसमेंट एजेंसियों के माध्यम से विद्या मितानों की भर्ती तथा उन्हें कम वेतन दिए जाने के पूरे प्रकरण की जांच करवाने की बात की है।

विधानसभा के प्रश्नोत्तरकाल में कांग्रेस के रामानुजगंज विधायक एवं सदस्य बृहस्पत सिंह एवं अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्नों का उत्तर देते हुए मुख्‍यमंत्री ने कहा कि बहुत गंभीर मामला है कि प्लेसमेंट एजेन्सियों द्वारा 28 हजार रुपए शासन से लिया जा रहा है और विद्या मितानों को 12 से 15 हजार देकर हस्ताक्षर करवाएं जा रहे हैं। उन्होने कहा कि जो मेहनत कर रहे हैं उन्हे उनका मेहनताना पूरा मिलना चाहिए। उन्होंने भाजपा सदस्य अजय चन्द्राकर के विद्या मितानों को पूरा वेतन देने की घोषणा सम्बन्धी पूरक प्रश्नों के उत्तर में कहा कि मामला प्रशासन स्तर पर प्रक्रियाधीन है। इससे पूर्व स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि प्लेसमेंट एजेन्सियों के माध्यम से 2185 विद्या मितानो की भर्ती की गई है। सदस्य श्री सिंह ने कहा कि बाहर की प्लेसमेंट एजेन्सियों ने लूट मचा रखी है। इस पर जनता कांग्रेस के धर्मजीत सिंह ने कहा कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में हुई नियुक्तियां रद्द करने और पूरे प्रकरण की जांच करवाने की मंत्री घोषणा करें।

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

गुरुवार को गुजरात के अहमदाबाद में रहेंगे छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री

रायपुर। प्रदेश के मुख्‍यमंत्री गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गढ़ गुजरात में रहेंगे। इस दौरान वे अपने दो महीने के कार्यकाल की उपलब्ध्यिां अलग-अलग कार्यक्रम में शामिल होकर बताएंगे। मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को गुजरात के अहमदाबाद के लिए रवाना होंगे। गुरुवार को मुख्यमंत्री की सभा अहमदाबाद में होगी। मुख्यमंत्री बनने के बाद वह पहली बार बुधवार शाम करीब 6 बजे विमान से अहमदाबाद के लिए रवाना होंगे। रात्रि अहमदाबाद में विश्राम करेंगे। अगले दिन 28 फरवरी को वे अहमदाबाद में होने वाले अलग-अलग कार्यक्रमों में शामिल होंगे। स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वे गुरुवार शाम 6 बजे विमान द्वारा रवाना होकर रात्रि 8.30 बजे रायपुर पहुंचेंगे।

The Voices FB