रायपुर । सरकार ने शिक्षकों की भर्ती का ऐलान किया है इसके बाद शिक्षाकर्मियों के बड़े वर्ग में नाराजगी है। वह चाहते हैं कि पहले उन शिक्षकों का संविलियन हो जिन्हें पिछली सरकार में संविलियन नहीं किया गया इसके बाद ही नई भर्तियों में आने वाले लोगों को प्राथमिकता दी जाए । 

 फिलहाल ऐसा होता ना देख शिक्षाकर्मी अब कोर्ट जाकर इस भर्ती पर स्टे लाने की तैयारी भी कर रहे हैं। 

     छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के जाकेश साहू और प्रदेश संयोजक संकीर्तन नंद ने कहा कि सरकार ने जो अपने जन घोषणा पत्र में कहा था 2 वर्ष के बाद सबका संविलियन किया जाएगा । 

धमतरी  संविलियन से वंचित शिक्षा कर्मी राजेश पांडे ने कहा कि  संविलियन न करके भर्ती करना उन 48000 शिक्षा कर्मियों साथियो के साथ अन्याय है। जो पिछले कई सालों से समान योग्यता रखते हुए कार्यरत है।

शिक्षाकर्मियों के तमाम गुट लगातार बैठके कर रहे हैं और जल्द ही इस भर्ती के खिलाफ ठोस रणनीति सामने आएगी