By पवन तिवारी

कोरबा। जिले के झगरहा गांव में स्थित मीडिल स्‍कूल के टीचर बीआर सोनवाने द्वारा बच्‍चों के साथ की गई मारपीट के मामले में अब शिक्षा विभाग गंभीर हुआ है। जिला शिक्षा अधिकारी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी टीचर को कारण बताओ नोटिा जारी किया है।

इस आशय की खबर प्रकाशित होने के बाद प्रशासन हरकत में आया है। मीडिल स्कूल झगरहा में शिक्षक की हैवानियत सामने आई थी, यहां पदस्थ शिक्षक बीआर सोनवाने ने 5 छात्रों की सिर्फ इसलिए पिटाई कर दी थी। इस ख़बर को दिखाए जाने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा और जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच जांच करवाया।

जिला शिक्षा अधिकारी संदीप पांडे ने बताया कि हेडमास्टर बीआर सोनवाने ने छात्रों के साथ मारपीट की थी, जिसे शोकाज नोटिस जारी किया गया है। विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी को जांच के लिए भेजा गया था, जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद कार्यवाही की जाएगी।

जिला शिक्षा अधिकारी संदीप पांडे ने भी माना है कि बाल संरक्षण अधिनियम 28 के तहत बच्चों के साथ मारपीट करना ठीक नहीं है। किसी भी बच्चे को शारीरिक रूप से दंड नहीं दिया जा सकता।

शिक्षक ने छात्रों की पिटाई इसलिए की थी, कि वे बिना बताए लघुशंका के लिए टॉयलेट चले गए थे छात्रों के अनुसार उन्हें जानवरों की तरह पीटा गया था।  

इसे भी पढ़ें - कोरबा : सरकारी स्‍कूल में बच्‍चों के साथ टीचर ने की बेहरमी से मारपीट, इलाके में तनाव के हालात