नई दिल्ली।  सभी पुलिस स्टेशन में महिलाओं की मदद के लिए हेल्प डेस्क और मानव तस्करी विरोधी इकाई बनाई जाएगी। यह घोषणा शनिवार को महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने की है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि ये सब निर्भया फंड की मदद से किया जाएगा।

;

बता दें कि निर्भया फंड का ऐलान 2012 में देश को झकझोर देने वाले निर्भया कांड के बाद केंद्र सरकार द्वारा 2013 में किया गया था। इस फंड के एलान का मुख्य उद्देश्य था कि इससे इकट्ठे हुए पैसे से उन एनजीओ की मदद की जाए जो महिला की सुरक्षा के लिए काम करते हैं। स्मृति इरानी ने ट्वीटर के जरिए इसकी जानकारी दी है। ईरानी ने ट्विटर पर घोषणा की कि सभी जिलों में मानव-तस्करी विरोधी इकाइयां और गैर-लैप्सबल कॉर्पस फंड का उपयोग करके देश भर के पुलिस स्टेशनों में महिलओं के लिए हैल्प डेस्क स्थापित डेस्क की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस कदम का उद्देश्य महिलाओं की सुरक्षा को मजबूत करना और उनके बीच सुरक्षा की अधिक समझ पैदा करना है। ईरानी ने ट्वीट में आगे लिखा कि पीएम नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में प्रभावी शासन की ओर अग्रसर अंतर-सरकारी सहयोग का एक उदाहरण है।