स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

मुंबई। आईपीएल 2019 में रविवार को वानखेड़े स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ गेंदबाजी के फॉलो-थ्रू में शॉट रोकने की कोशिश में जसप्रीम बुमराह का बायां कंधा चोटिल हो गया। हालांकि, मुंबई इंडियंस के टीम मैनेजमेंट का कहना है कि चिंता की कोई बात नहीं है। बुमराह की चोट तेजी से ठीक हो रही है। सोमवार को उनकी स्थिति का आकलन किया जाएगा।

मुंबई की पारी में बुमराह बल्लेबाजी के लिए नहीं आ पाए थे, जिसकी वजह से सबका चिंतित होना ज़ाहिर है। लेकिन बाद में पता चला कि टीम मैनेजमेंट ने बुमराह की फिटनेस को लेकर रिस्क नहीं लेना चाहती थी इसलिए उन्हें बल्लेबाज़ी के लिए नहीं उतारा। आपको बता दें कि बुमराह विश्व कप के लिए भारतीय टीम का एक अहम हिस्सा हैं।

मैच के दौरान बुमराह के चोटिल होने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और टीम प्रबंधन काफी चिंतित हो गए थे। यहां तक कि टीम इंडिया के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट ने बुमराह की स्थिति की जांच करने के लिए सोमवार सुबह मुंबई के फिजियो नितिन पटेल से संपर्क भी किया। टीम इंडिया को मई में वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड रवाना होना है और टीम के लिए बुमराह की फिटनेस बेहद मायने रखती है।

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। भारतीय तेज गेंदबाज मुहम्मद शमी की मुश्किलें बढ़ गयी है। शमी पर दहेज उत्पीड़न और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। दरअसल शमी की पत्‍‌नी हसीन जहां ने पिछले साल उनपर यौन उत्पीड़न, घरेलू हिंसा और मैच फिक्सिंग जैसे गंभीर आरोप लगाए थे। शमी के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने गुरुवार को अलीपुर कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है।

गौरतलब है कि छह मार्च 2018 को हसीन जहां ने शमी पर दूसरी औरतों से संबंध रखने का आरोप लगाया था। सुबूत के तौर पर उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर शमी की दूसरी औरतों के साथ कई फोटो शेयर कीं। इसके अलावा हसीन ने शमी के दूसरी लड़कियों के साथ चैटिंग के स्क्रीन शॉट्स भी शेयर किए। हालांकि, बाद में उन्होंने उनको डिलीट कर दिया। हसीन ने शमी पर मारपीट का आरोप भी लगा दिया। मैच फिक्सिंग का आरोप लगने के बाद बीसीसीआइ ने उनका सालाना कॉन्ट्रेक्ट भी रोक दिया था, लेकिन जांच के बाद जब कुछ नहीं मिला तो बीसीसीआई ने शमी को क्लीन चिट देते हुए कॉन्ट्रेक्ट में शामिल कर लिया था।

हसीन की ओर से लगाए गए आरोपों के अगले दिन सात मार्च को शमी ने अपने फेसबुक पेज के जरिये सफाई दी। शमी ने आरोपों को खारिज करते हुए उन्हें अपने और परिवार के खिलाफ साजिश बताया। नौ मार्च 2019 को आखिरकार मामला थाने तक पहुंच गया और शमी के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज करा दिया गया। शमी के खिलाफ कोलकाता के जादवपुर थाने में पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 498ए, 376, 307, 323, 506, 328 और 34 के तहत एफआइआर दर्ज कर ली थी। इसके बाद शमी को कोलकाता पुलिस ने पूछताछ के लिए भी तलब किया था। हालांकि, गिरफ्तारी नहीं हुई थी। अब पुलिस ने चार्जशीट पेश कर दी है।

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एस. श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया। शुक्रवार को कोर्ट ने बीसीसीआई से भारतीय क्रिकेटर श्रीसंत की सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा। बता दें कि श्रीसंत को अजीत चंदीला और अंकित चौहान के साथ 2013 में आईपीएल के दौरान स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस जांच में उन्हें क्लीन चिट मिल गई थी। लेकिन बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इसके खिलाफ श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने तेज गेंदबाज को राहत देते हुए उन पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया और अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ ने बीसीसीआई से श्रीसंथ को दिए सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है। इससे पहले बीसीसीआई ने कोर्ट में कहा था कि श्रीसंत पर भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी और खेल को बेइज्जत करने के आरोप हैं। श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध खत्म हो गया है लेकिन वो अभी खेल नहीं पाएंगे। अदालत ने कहा कि बीसीसीआई श्रीसंत का भी पक्ष सुने। हालांकि शीर्ष अदालत ने श्रीसंत को अभी भी मैच फिक्सिंग का दोषी माना है।

फैसले के बाद श्रीसंत खुद मीडिया के सामने आए और उन्होंने वकीलों का शुक्रिया अदा किया और कहा कि मैदान पर वापसी के लिए मैं पूरी तरह से तैयार हूं। वहीं उन्होंने ये भी कहा कि अगर लिएंडर पेस 45 साल की उम्र में ग्रैंडस्लैम खेल सकते हैं तो मैं भी क्रिकेट खेल सकता हूं। सीओेए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि 'हां हमने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बारे में सुना है। हम कोर्ट के आदेश की प्रति हासिल करेंगे। इसके बाद हम निश्चित तौर पर सीओए की मीटिंग में इस पर विचार करेंगे।'

राजनीति

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के लोकसभा चुनाव लड़ने की चर्चा है। माना जा रहा है कि बीजेपी गौतम गंभीर को नई दिल्ली लोकसभा सीट से उतार सकती है। इस सीट से सांसद अभी मीनाक्षी लेखी हैं। उनको पार्टी किसी और सीट से उम्मीदवार बना सकती है। हालांकि अभी इस खबर की पुष्टि नहीं हुई है।

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मीनाक्षी लेखी को 453350 (46.75) वोट मिले थे। इस सीट पर दूसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी थी जिसके प्रत्याशी आशीष खेतान को 290642 (29.97) वोटें मिली थीं. वहीं कांग्रेस के अजय माकन तीसरे नंबर थे, जिन्हें 182893 (18.86) वोटे मिली थीं। वहीं इनेलो 20028 वोट पाकर चौथे नंबर थी। बीएसपी इस सीट पर पांचवे नंबर थी।

इस सीट पर  कांग्रेस 7 बार चुनाव जीत चुकी है, जबकि 6 बार यहां पर कब्जा कर चुकी है। जनसंघ के नेता बलराज मधोक भी यहां से एक बार चुनाव जीत चुके हैं। 1977 के चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी 1989 और 1991 में यहां से चुनाव जीत चुके हैं। 1992 में हुए उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी राजेश खन्ना से बीजेपी प्रत्याशी शत्रुघ्न सिन्हा को हरा दिया था।

इस सीट में हमेशा चर्चित चेहरे

नई दिल्ली से हमेशा से ही हाईप्रोफाइल सीट रही है और यहां से हमेशा चर्चित चेहरे ही चुनाव लड़ते रहे हैं, लेकिन इस बार समीकरण बदले हुए नजर आ रहे हैं। आम आदमी पार्टी को जहां झटका देते हुए कांग्रेस ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है वहीं आम आदमी पार्टी ने भी दिल्ली की 6 सीट पर प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। हालांकि ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस भी अब गठबंधन करने पर विचार कर रही है। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित ने ऐलान किया है कि कांग्रेस किसी भी तरह का गठबंधन दिल्ली में नहीं करना चाहती है।

The Voices FB