स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। आईपीएल का 12वां सीजन इस बार फीका पड़ने वाला है क्योंकि विश्व कप के चलते कुछ खिलाड़ियों को बीच में IPL छोड़कर जाना पड़ेगा। 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में शुरू हो रहे विश्व कप के चलते सभी टीमों के मुख्य खिलाड़ी टूर्नामेंट को बीच में छोड़कर स्वदेश लौट जाएंगे। दरअसल यह पहले ही तय हो गया था कि विश्व कप के चलते सभी टीमों के कुछ खिलाड़ी टूर्नामेंट को बीच में छोड़कर वापस स्वदेश लौट जाएंगे।

बता दें कि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी सबसे पहले ही स्वदेश लौटेंगे। वहीं, कीवी और बांग्लादेशी खिलाड़ी पूरा सीजन खेलेंगे। इन खिलाड़ियों के वापस लौटने से निश्चित रूप से सभी टीमों को नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

8 टीमों के ऐसे खिलाड़ी हैं, जो टूर्नामेंट को बीच में छोड़कर वापस अपने देश लौट जाएंगे:-

चेन्नई 

फाफ डू प्लेसिस, इमरान ताहिर 

दिल्ली

कागिसो रबाडा

मुंबई

जेसन बेहरेनडॉर्फ, क्विंटन डी कॉक

 हैदराबाद

डेविड वार्नर, जॉनी बेयरस्टो, शाकिब अल हसन 

पंजाब

डेविड मिलर 

कोलकाता

जो डेनली 

 बैंगलोर

डेल स्टेन, मोइन अली, मार्कस स्टोइनिस 

राजस्थान

जोस बटलर, स्टीव स्मिथ, बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्च

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By अरुण कुमार

बलरामपुर। छत्तीसगढ़ के राजधानी रायपुर में कुकीवोन सेमिनार मठपुरैना में आयोजन किया गया। जिसमें ताइक्वांडो रेफ़रशिप, इन्सट्रकक्टर और एडवांस ट्रेंनिग का प्रशिक्षण साउथ कोरिया वर्ल्ड ताईक्वांडो हेडक़वाटर से आये ग्रैंड मास्टर जॉनघी ली द्वारा दिया गया। इस प्रतियोगिता में बलरामपुर जिले के जिला मुख्यालय निवासी राष्ट्रीय ताईक्वांडो खिलाड़ी प्रांजल सिंह ने भी हिस्सा लिया।

प्रांजल सिंह ने ताईक्वांडो रेफ़रशिप की प्रशिक्षण प्राप्त कर परीक्षा दी और पास होकर प्रमाण पत्र प्राप्त किया। प्रांजल सिंह इससे पहले राष्ट्रीय स्तर पर कई बार स्वर्ण पदक प्राप्त कर चुके है। प्रांजल सिंह जिला मुख्यालय बलरामपुर के हायर सेकंडरी स्कूल के शिक्षक अरुण कुमार सिंह के बेटे हैं। वे कई बार राज्य और जिले का नाम राष्ट्रीय स्तर पर रोशन चुके हैं। प्रांजल ने कहा कि- ‘बलरामपुर जिला अभी उतना विकसित नहीं हुआ है, जिससे जिले में खेल सुविधाओं का काफी अभाव है। उन्होंने कहा कि अगर जिला मुख्यालय में सुविधाएं होंगी तो भारी संख्या में खिलाड़ी ताइक्वांडो जैसे खेलों में हिस्सा लेकर आगे आएंगे और जिला सहित प्रदेश का नाम रोशन करेंगे।’

The Voices FB